इंदौर। नईदुनिया प्रतिनिधि। लड़कियों की खरीद फरोख्त और देहव्यापार के आरोप में गिरफ्तार बांग्लादेशी मामून उर्फ मामनूर हुसैन उर्फ विजय दत्त व उसके सहयोगी बबलू उर्फ पलास सरकार के फ्लैट से एसआइटी ने 100 से ज्यादा मोबाइल सिम,करीब 200 पहचान पत्र,पासपोर्ट और बैंक पासबुक जब्त हुई है। पुलिस ने सहयोग करने वाली शाहीन,रुबी,पायल,नीता,काजल,नीलम सहित अन्य युवतियों की भी तलाश की लेकिन छापे की भनक लगने से सभी फरार हो गई।

विजयनगर थाना टीआइ तहजीब काजी के मुताबिक कछारीपारा पाबना(बांग्लादेश) निवासी मामनूर पुत्र वफ्फजुल हुसैन और उसका साथी बबलू उर्फ पलास पुत्र संजीव सरकार रिमांड पर है। प्रधान आरक्षक भरत बड़े,कुलदीप,उत्कर्ष और राजेश की टीम दोनों आरोपितों को नालासोपारा(मुंबई) ले गई और फ्लैट की तलाशी ली।

टीम को यहां से फर्जी आधार कार्ड,वोटर आइडी कार्ड मिलें। मामून की ज्यादातर आइडी विजय दत्त के नाम से है और स्थाई पता भी नालासोपारा का लिखा है।उसकी पत्नी जोशना खातुन का एक पेनकार्ड मिला है जिसमें पिता के रुप में दलाल बबलू विश्वास का नाम दर्ज है। पुलिस को करीब 100 मोबाइल सिम मिली है जिसे मामून ने उपयोग के बाद बंद कर दी थी। पुलिस को शक है मामून बांग्लादेशी सिम का भी उपयोग करता था जिसकी जांच चल रही है।

38 की उम्र में 50 लड़कियों का पति और 10 का पिता बना दलाल

टीआइ के मुताबिक पुलिस को आरोपित बबलू से फर्जी आइडी मिलें है। एक आइडी में उसका आयशा नामक युवती के पति के रूप में नाम दर्ज है। पूछताछ में बताया आयशा को देहव्यापार के अड्डे के मुक्त करवाया था। फर्जी आइडी से वह आयशा को शेल्टर होम से लेकर फरार हो गया था। उसने बताया कि इसी प्रकार बांग्लादेश और पश्चिम बंगाल की 50 से ज्यादा लड़कियों का पति और 10 से ज्यादा का पिता बन कर फर्जी पहचान पत्र बनवा चुका है। उसकी कईं लड़कियों से दोस्ती भी है। कईं दो शादी कर देहव्यापार में धकेल चुका है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local