नवीन यादव. इंदौर (नईदुनिया)। वीआइपी नंबर के लिए लोगों की दीवानगी कायम है। शनिवार रात ख़त्म हुई वीआइपी नंबरों की नीलामी में कार का 0001 नंबर 4 लाख 60 हजार रुपये में बिका है। इस नंबर के लिए तीन दावेदार मैदान में थे। सोमवार को कार्यालय खुलने पर इस बात का पता चलेगा कि किस व्यक्ति या कंपनी ने यह नंबर लिया है।

एआरटीओ अर्चना मिश्रा ने बताया कि हर माह में दो बार यह प्रक्रिया होती है। यह इस महीने की दूसरी नीलामी थी। इस बार कार के नंबरों की नई सीरीज शुरू हुई थी। जिसके कारण बेहतर रिस्पांस मिला हैं। कार और दोपहिया सहित करीब 60 नंबर बिक गए हैं। देर रात तक लोग बोली लगाते रहे।

ऐसे होती है नंबर की नीलामी

आवेदक नंबर का बेस प्राइज भर कर बोली प्रक्रिया में शामिल हो सकते हैं। इसके बाद अगर कोई दूसरा दावेदार नहीं हो तो बेस प्राइज में ही नंबर मिल जाता है। अगर दूसरा दावेदार आता है तो अधिकतम बोली लगाने वाले को नंबर मिल जाता है। इसके बाद उस नंबर पर 60 दिन में रजिस्टर्ड करवाना जरूरी होता है।

यह नंबर बिके

जानकारी के अनुसार कार के 0001, 0002, 0007, 0009, 7777, 5050, 5555, 9999 नंबरों के लिए आवेदकों ने बोली लगाई है। इसके अलावा बाइक और स्कूटर के 1111, 9100, 5500 आदि नंबर भी बिक गए हैं।

7 दिन में राशि नहीं दी तो सीज करेगा विभाग

जानकारी के अनुसार जिन लोगों ने नंबरों को ऊंची बोली लगाकर खरीदा है। उन्हें बेस प्राइज के अलावा शेष राशी को 7 दिन में जमा कर आरटीओ से लेटर लेना होगा। अगर ऐसा नहीं होता है, तो आरटीओ नंबर और बेस प्राइज का शुल्क सीज कर लेगा और अगली नीलामी में नंबर फिर से आ जाएगा। जैसे 0001 नंबर के विजेता को 3 लाख 60 हजार की राशि 7 दिनों में जमा करना होगी, नहीं तो परिवहन विभाग उसकी एक लाख की बेस प्राइज की राशि जब्त कर लेगा।

Posted By: dinesh.sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस