Indore RTO : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पंजीयन कार्ड के अभाव में परेशान हो रहे वाहन मालिकों को अब राहत मिलेगी। परिवहन विभाग ने पंजीयन कार्ड उपलब्ध नहीं होने तक पंजीयन कराने वाले वाहन मालिकों को प्रोविजनल प्रमाण पत्र जारी करना शुरू किया है। अगस्त से प्रदेशभर में वाहन पोर्टल पर पंजीयन प्रारंभ होने के बाद से वाहन मालिक पंजीयन कार्ड के लिए परेशान हो रहे हैं। लोग रोजाना आरटीओ और डीलरों के चक्कर काट रहे हैं। ऐसे में परिवहन विभाग ने इसका नया तरीका निकाला है। चेकिंग के दौरान इसे वैध करने के लिए परिवहन विभाग ट्रैफिक पुलिस से भी समन्वय स्थापित कर रहा है।

वाहनों का पंजीयन केंद्र सरकार के वाहन पोर्टल पर होने के बाद से काफी परेशानी हो रही है। डीलर इस पोर्टल के धीमे चलने से परेशान हैं। वहीं खाली पंजीयन कार्ड नहीं होने से आरटीओ में प्रिंट नहीं हो पा रहे हैं। लोग लगातार परेशान हो रहे हैं। आरटीओ प्रदीप शर्मा ने बताया कि लाइसेंस और पंजीयन कार्ड की कमी से इन्हें जारी नहीं कर पा रहे हैं। ऐसी स्थिति में हमने यह तय किया है कि ऐसे वाहन के पंजीयन कार्ड के स्थान पर पंजीयन के प्रोविजनल प्रमाण पत्र जारी करें। खाली कार्ड मिलते ही समस्त वाहन स्वामी और चालकों को कार्ड प्रदान किए जाएंगे। शर्मा ने बताया कि ट्रैफिक पुलिस से भी संपर्क कर रहे हैं। उन्हें इस समस्या के बारे में बताया गया है। यह भी कहा गया है कि अगर कोई व्यक्ति चेकिंग के दौरान प्रोविजनल प्रमाण पत्र या आनलाइन रिकार्ड दिखाता है,तो इसे मान्य किया जाए, ताकि वाहन मालिकों को किसी प्रकार की असुविधा नहीं हो।

आनलाइन नहीं दिख रहा रिकार्ड

प्रदेश सरकार के पोर्टल पर पंजीकृत वाहनों की जानकारी आनलाइन आसानी से दिख जाती थी। अभी भी अगस्त के पहले तक के वाहनों की जानकारी उस पोर्टल पर दिख जाती है। लेकिन वाहन पोर्टल पर पंजीयन व्यवस्था होने के बाद से इसका रिकार्ड दिखना ही बंद हो गया है। सबसे अधिक परेशानी वाहन मालिक की होती है, पंजीयन कार्ड के अभाव में वह पुलिस को बता ही नहीं पाता है कि वह वाहन का मालिक है।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close