इंदौर। पिछले दो सप्ताह से इंदौर पर मेहरबान बादलों के कारण सितंबर में इंदौर में होने वाली बारिश का पिछले 10 साल का रिकॉर्ड टूट गया। वर्ष 2009 से अब तक मौसम विभाग आंकड़ों पर नजर डालें तो इस बार सितंबर के 13 दिनों में करीब 12 इंच बारिश हो चुकी है, जो सितंबर में पिछले 10 साल में सबसे अधिक है। इंदौर में सितंबर में 1985 में सर्वाधिक बारिश 33 इंच बारिश हुई थी। शहर में शुक्रवार को भी बारिश का दौर जारी रहा और रुक-रुककर हल्की से मध्यम स्तर की बारिश होती रही।

इंदौर में पिछले 36 घंटे में करीब साढ़े तीन इंच बारिश हुई, जबकि शुक्रवार सुबह 8.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक करीब एक इंच बारिश हुई। इस सीजन में इंदौर में अब तक 45 इंच बारिश हो चुकी है। मप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के रीगल तिराहा स्थित मौसम केंद्र के मुताबिक रीगल क्षेत्र में शुक्रवार सुबह छह बजे से शाम पांच बजे तक करीब पौने दो इंच बारिश हुई। लगातार हो रही बारिश के कारण बीआरटीएस सहित शहर के प्रमुख इलाकों की सड़कों पर जलजमाव की स्थिति बनी।

नाले में डूबने से 10 साल के बच्चे की मौत

बारिश के बीच नाले में बहने से 10 साल के बच्चे की मौत हो गई। माणिकबाग स्थित विजय पैलेस में रहने वाला इम्तियाज शुक्रवार दोपहर खेलते-खेलते नाले तक पहुंच गया। इसी दौरान पैर फिसलने से वह नाले में जा गिरा। आसपास के लोगों ने उसे निकाला और अस्पताल लेकर पहुंचे, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। घटना के दौरान उसके माता-पिता काम पर गए थे।

आज भारी बारिश की संभावना

मौसम वैज्ञानिक वेदप्रकाश सिंह के मुताबिक इंदौर में शनिवार को भी भारी बारिश की संभावना है। रविवार से बारिश में थोड़ी कमी दिखेगी, लेकिन इसका दौर दो-तीन दिन तक जारी रहेगा। अभी टर्फ लाइन सेट नहीं होने से मौसम में अनिश्चितता दिख रही है। गुरुवार को यह सीधी के ऊपर से होकर जा रही थी, जबकि शुक्रवार को इलाहाबाद के ऊपर से जा रही है। टर्फ लाइन सेट नहीं होने से 16 सितंबर के बाद फिर से बारिश का दौर शुरू होगा।