इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सत्र 2021-22 में विद्यार्थियों का प्रवेश हो चुका है। अब छात्र-छात्राएं आफलाइन कक्षाओं में आने लगी है। इसके चलते छात्रवृत्ति के लिए अब उच्च शिक्षा विभाग ने आवेदन मांगे है, जिसमें अब आधार कार्ड देना जरूरी है। दिसंबर दूसरे सप्ताह तक फार्म भर सकते है। सप्ताहभर का समय कालेजों को आवेदन जांच कर विभाग को भेजना होगा। अधिकारियों के मुताबिक एक से अधिक छात्रवृत्ति न मिले इसके लिए आधार कार्ड जमा करना जरूरी है।

विद्यार्थियों को अपने मनपसंद कोर्स में प्रवेश दिया

अगस्त से नवंबर के बीच विद्यार्थियों को अपने मनपसंद कोर्स में प्रवेश दिया गया। प्रदेशभर के सरकारी-निजी कालेजों में करीब छह लाख विद्यार्थियों को दाखिला मिला है। जबकि देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के दायरे में आने वाले कालेजों में 1 लाख 22 हजार विद्यार्थी विभिन्न कोर्स में रजिस्टर्ड हुए है।

80 कोर्स शामिल

बीए, बीकाम, बीएससी, एमए, एमकाम, एमएससी, बीएड, बीपीएड, एमएड, एमपीएड, एलएलबी, एलएलएम, बीबीए, बीसीए सहित 80 कोर्स शामिल है। एसटी, एससी, ओबीसी के अलावा मेधावी विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करना है।

छात्रवृत्ति के लिए फार्म भेजने का समय बढ़ाया

प्रवेश प्रक्रिया लेट होने से छात्रवृत्ति के लिए फार्म भेजने का समय बढ़ाया है। 15 दिसंबर तक आवेदन मिलने के बाद इन्हें कालेज विभाग को भेजेगा। उसके आधार पर विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति की राशि मिलेगी। संभवत: जनवरी के तीसरे सप्ताह तक छात्रवृत्ति जारी हो सकती है। फिलहाल वरिष्ठ अधिकारियों ने छात्रवृत्ति से जुड़े प्रकरण का चार सप्ताह में निराकरण करना है। बताया जाता है कि अभी विभागों को छात्रवृत्ति बांटने के लिए बेहद कम बजट आवंटित हुआ है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local