इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। यदि आप किसी मजदूर से दिनभर काम कराते हैं, तो उसका पसीना सूखने से पहले उसे मेहनताना जरूर दे दीजिए। किसी का मेहनताना दबाना हमारे आते हुए भाग्य के कदमों पर दो कील ठोंकने जैसा है। रास्ते से गुजरते समय मंदिर आने पर आप प्रार्थना में हाथ जोड़ें और यदि कोई एंबुलेंस गुजरती नजर आए तो उसे देखकर उसमें सवार मरीज के लिए ईश्वर से प्रार्थना करें। संभव है कि आपकी प्रार्थना उस मरीज को नया जीवन दे दे।

यह बात संत ललितप्रभ महाराज ने शनिवार को रवींद्र नाट्यगृह में कही। वे आध्यात्मिक चातुर्मास समिति के तत्वावधान में आयोजित तीन दिनी प्रवचनमाला में जीवन जीने की कला के दूसरे दिन 'कैसे खोलें अपनी बंद किस्मत के ताले" और 'कैसे कमाएं दुआओं की दौलत" विषय पर संबोधित कर रहे थे। संतश्री ने हर दिन परोपकार का एक कार्य करने का संकल्प दिलाया तो मौजूद समाजजन ने मोबाइल की लाइट जलाकर इस संकल्प के प्रति अपना समर्थन व्यक्त किया।

श्रद्धालुओं को बांटे साहित्य - प्रारंभ में समाजसेवी सुजानमल चोपड़ा, राजेेंद्र लोढा, सुरेश दिनेश डोसी, रोहित कुमार मुणोत, हुलास जैन, नवीन कुमार जैन, जयंती सिंघवी, दिलीप सावलानी, अशोक लोढा, मनोज लोढा ने दीप प्रज्जवलन किया। इस अवसर पर रायपुर चातुर्मास समिति के सचिव पारस पारख, प्रशांत तालेड़ा, अमित मुणोत, अनिल दुग्गड़, तरुण कोचर, पवन बुरड़, पंकज बैद, ऋषभदेव जैन मंदिर ट्रस्ट रायपुर के अध्यक्ष विजय कांकड़िया, कार्यकारी अध्यक्ष अभय भंसाली उपस्थित थे। कार्यक्रम में मूलचंद संघवी की स्मृति में जयंतीलाल अनिता संघवी परिवार की ओर से सभी श्रद्धालुओं को साहित्य भेंट किए गए। आध्यात्मिक प्रवचनमाला समिति के कांतिलाल बम एवं पारसमल कटारिया ने बताया कि 22 मई को प्रवचनमाला के अंतिम दिन 'युवा पीढ़ी में संस्कार निर्माण" विषय पर प्रवचन होंगे।

अग्रश्री कपल्स ग्रुप करेगा दादी का मंगल पाठ

इंदौर। संस्था अग्रश्री कपल्स ग्रुप द्वारा 22 मई को दोपहर 1.30 बजे से राजीव गांधी चौराहा स्थित मीरा गार्डन में राणीसती दादी का मंगल पाठ किया जाएगा। पाठ गायक कुंदन मिश्रा के मुखारविंद से होगा। संस्थापक स्वाति राजेश मंगल व अध्यक्ष शीतल रवि अग्रवाल ने बताया कि दादी का दरबार सजेगा और हल्दी, मेहंदी व चुनरी उत्सव भी मनाया जाएगा। 56 भोग समर्पण के बाद महाआरती की जाएगी।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close