Janmashtami 2022 : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दो साल बाद इंदौर के यादव समाज द्वारा कृष्ण जन्माष्टमी पर शुक्रवार को भगवान कृष्ण की शोभायात्रा सुबह 11 बजे चिमनबाग से निकाली जाएगी। इसमें छह झांकियों में माधव का जीवन चरित्र नजर आएगा। झांकी में अर्जुन को गीता का ज्ञान देते तो कहीं कालिया मर्दन का दृश्य जीवंत होगा। जय माधव...जय यादव के जयघोष के बीच मथुरा-वृंदावन से आई कलाकारों की टोलियां राह में रासलीला का मंचन करते चलेंगी।

यादव अहीर समाज केंद्रीय समिति के संरक्षक दीपू यादव और अध्यक्ष ओंकार यादव ने बताया कि गुरुवार को आयोजित बैठक में यात्रा की रूपरेखा तय की गई। इसमें शाही रथ में भगवान को बाल स्वरूप में विराजित किया जाएगा। भजन एवं गरबा मंडलियां व अखाड़े भी प्रस्तुतियां देंगे। इसके लिए समाज के 25 प्रमुख संगठन एकजुट हुए हैं। यात्रा बड़ा गणपति चौराहा से सुबह 11 बजे गोवंश पूजन एवं भगवान के रथ की पूजा-अर्चना के बाद कंडीलपुरा, जिंसी, सुभाष मार्ग, इमली बाजार, नगर निगम, चिकमंगलूर चौराहा होते हुए चिमनबाग स्थित श्रम शिविर कार्यालय परिसर पहुंचेगी, जहां समाजबंधुओं का स्नेह मिलन समारोह होगा। यात्रा में पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव, राज्य के जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट, उच्च शिक्षा मंत्री डा. मोहन यादव शिरकत करेंगे। बैठक में सभापति मुन्नालाल यादव, पार्षद शिवम यादव, विनीतिका यादव, संध्या यादव, रमेश उस्ताद आदि मौजूद थे।

गौर वर्ण वाले कृष्ण के बाल स्वरूप विराजित हैं यहां

इंदौर। पंचकुइया आश्रम में स्थित 150 साल पुराने मंदिर में राम और कृष्ण की बाल स्वरूप में मूर्तियां विराजित हैं। आमतौर पर कृष्ण की मूर्तियां श्याम वर्ण की होती हैं लेकिन यहां गौर वर्ण की है। ऐसी मूर्ति वृंदावन के बाद यहां है। ढाई फीट की राम और कृष्ण की मूर्तियां ऐसी हैं जैसे एक दूसरे से चर्चा कर रही हों। महामंडलेश्वर लक्ष्मणदास महाराज ने बताया कि भगवान के मनोहारी स्वरूप की देखभाल एक बालक की तरह की जाती है। भगवान को लगाए जाने वाले भोग की सामग्री आश्रम में उगाई जाती है। जन्माष्टमी पर शुक्रवार को भगवान का विशेष श्रृंगार-दर्शन और महाआरती होगी।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close