नवीन यादव, इंदौर। जेट एयरवेज ( Jet Airways Shutdown) द्वारा आर्थिक परेशानियों के चलते अपने सारे संचालन बंद करने से इंदौर के यात्रियों का नुकसान हो गया है। इंदौर से 6 शहरों के लिए सीधी फ्लाइट सुविधा बंद हो गई है। लोगों को मजबूरन कनेक्टिंग फ्लाइट लेना पड़ेगी। बचे हुए 11 शहरों के लिए भी किराए में 30 से 40 प्रतिशत तक की वृद्धि हो गई है। इधर, शहर में काम करने वाले 100 से अधिक छोटे-बड़े ट्रैवल एजेंट के सामने रिफंड का संकट खड़ा हो गया है। कंपनी से पैसा बाद में आएगा, इधर उन्हें अपने ग्राहकों को हाथों-हाथ पैसा लौटाना पड़ रहा है।

बुधवार रात जेट की अंतिम फ्लाइट के जाने के बाद से जेट का सफर थम गया है। चूंकि यात्रियों को इसकी पूर्व सूचना दे दी गई थी, इसलिए गुरुवार सुबह यात्री एयरपोर्ट पर नहीं पहुंचे। हालांकि एयरपोर्ट पर स्थित जेट एयरवेज का ऑफिस जरूर खुला था। यहां पर पदस्थ कर्मचारी भी ऑफिस आए थे। जेट के स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक यहां पर जेट के सभी विभाग के मिलाकर 80 से अधिक कर्मचारी थे, जिनके सामने दिक्कत खड़ी हो गई है। इधर, एविएशन एक्सपर्ट ने बताया कि पहले इंदौर से 17 शहरों के लिए सीधी फ्लाइट थी, लेकिन अब इनमें से 6 शहरों के लिए फ्लाइट बंद हो गई है। अब यात्रियों को कनेक्टिंग फ्लाइट लेनी पड़ेगी और यात्रा में ज्यादा समय लगेगा। इसके अलावा राजस्थान, उत्तरप्रदेश से सीधा हवाई संपर्क ही खत्म हो गया है।

कंपनी ने रोके रिफंड, कब आएंगे पता नहीं

ट्रैवल एजेंट पवन चेलानी ने बताया कि कंपनी ने रिफंड प्रोसेस बंद कर दी है। मेरी एक पार्टी लंदन में अटकी है। उसकी 28 अप्रैल की वापसी है। मुझे उसके टिकट नए सिरे से बनाने पड़ेंगे। जबकि रिफंड आने में करीब 3 से 4 माह लग जाएंगे। फरवरी के रिफंड अब तक नहीं आए हैं। एक अन्य एजेंट रवि नवलानी ने बताया कि हमारे यात्री विदेश में हैं, लेकिन जब उन्हें पता चलेगा कि एयरलाइन ने ऑपरेशन बंद कर दिए हैं तो उससे हमारे विवाद होंगे। यह काफी दिक्कत का दौर है। यात्रियों ने हमें पैसे दिए थे, वे हमसे वापस मांगेंगे। उन्हें इससे कोई मतलब नहीं होगा कि कंपनी हमें बाद में पैसे वापस करेगी।

किंगफिशर के समय भी ऐसा हुआ था

एक अन्य एजेंट शरद पंवार ने बताया कि जब किंगफिशर एयलाइन बंद हुई थी तब भी ऐसी ही दिक्कत आई थी। उस समय भी एजेंटों के पैसे तीन-चार माह में वापस आए थे, लेकिन कुछ एजेंटों के पैसे ही वापस नहीं आए थे। अब फिर हमारे सामने दिक्कत खड़ी हो गई है।

इन शहरों के लिए बची फ्लाइट

अहमदाबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली, गोवा, ग्वालियर, हैदराबाद, मुंबई, नागपुर, कोलकाता और रायपुर।

यहां के लिए हो गई बंद

जोधपुर, जयपुर, लखनऊ, पुणे, वडोदरा, इलाहाबाद इसके अलावा कंपनी राजकोट और उदयपुर के समर शेड्यूल में फ्लाइट शुरू करने वाली थी वे भी शुरू नहीं हो पाई ।

पटरी पर आ जाए जेट की गाड़ी

जेट एयरवेज के कारण इंदौर से फ्लाइट की संख्या अधिक थी, यात्रियों के सामने भी आप्शन था। हम तो यही चाहते हैं कि जल्दी यह मामला सुलझ जाए और जेट के विमान फिर से उड़ान भरने लगे।

-हेमेन्द्र सिंह जादौन, सचिव, ट्रेवल एजेंट एसोसिएशन ऑफ इंडिया एमपी सीजी

यह असर पड़ेगा इंदौर पर

- महंगा किराए पर यात्रा करना पड़ेगी।

- यात्रियों की संख्या कम होगी।

- छोटे शहरों के लिए यात्रा करने के लिए ज्यादा समय लगेगा।

- एयरपोर्ट के विस्तार के कार्य अटक सकते हैं।

- जिस इंदौर एयरपोर्ट को डोमेस्टिक हब बनाने के प्रयास किए जा रहे थे, उसमें अब समय लगेगा।

- नए टर्मिनल की जरूरत को लेकर फिर से कार्ययोजना बनानी पड़ेगी।

-नाइट पार्किंग में केवल एक विमान ही खड़ा होगा।

Posted By: Saurabh Mishra

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020