Kahan Khele Indore : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर के मध्य में कभी दो नंबर स्कूल हुआ करता था। इसके साथ कुछ और भी स्कूल थे और बड़ा सा मैदान था। स्कूल तो अब रहा नहीं, लेकिन मैदान शेष है। यह मैदान कभी खिलाड़ियों से गुलजार रहता था, लेकिन अभी अवैध पार्किंग स्थल बनता जा रहा है। लोगों ने कब्जा करने के लिए गुमटियां भी लगा ली हैं। स्थिति यह है कि खिलाड़ी मैदान से दूर हो रहे हैं।

छावनी क्षेत्र में आरएनटी मार्ग पर दो नंबर स्कूल का मैदान आसपास के बड़े क्षेत्र के बच्चों और युवाओं के लिए खेल गतिविधि का बड़ा केंद्र रहा है। यहां मुराई मोहल्ला, उषागंज, जावरा कंपाउंड सहित छावनी क्षेत्र के बच्चे खेलने आते हैं, मगर प्रशासन की उदासीनता के चलते अब यह मैदान अवैध पार्किंग स्थल में तब्दील होता जा रहा है। आरएनटी मार्ग होने के कारण यहां आसपास के लोग अपने वाहन खड़े करते हैं। वाहनों के कारण मैदान पर जगह नहीं बचती। कई बार यहां कार मालिकों व बच्चों में विवाद भी हो चुका है। इधर, अवैध गुमटियां भी धीरे धीरे बढ़ती जा रही हैं। स्थानीय निवासी और सांवेर के पूर्व विधायक राजेश सोनकर भी यहां खेला करते थे। वे यहां स्पोर्ट्स एंड स्पोर्ट्स क्लब के नाम से यहां टूर्नामेंट भी कराते थे। उन्होंने यहां खेल कुंभ कराया था। इसमें कबड्डी, कुश्ती सहित गुल्ली-डंडा जैसे कई देसी खेलों की स्पर्धाएं कराई थीं। शहर के अन्य मैदानों पर रनिंग ट्रैक और पानी के छिड़काव के लिए बोरिंग है। यहां भी योजनाबद्ध तरीके से यदि विकास किया जाए तो यह खिलाड़ियों के लिए बेहतर होगा।

10 साल से नहीं हुआ रात्रिकालीन क्रिकेट टूर्नामेंट - स्थानीय निवासी राकेश सिरसिया बताते हैं कि पहले यहां नियमित रात्रिकालीन क्रिकेट टूर्नामेंट होते थे, जिसे देखने के लिए भारी भीड़ जुटती थी। दिन में भी टूर्नामेंट होते थे। मगर करीब 10 साल से यहां कोई रात्रिकालीन टूर्नामेंट नहीं हुआ। किसी भी टूर्नामेंट के लिए मैदान तैयार करना पड़ता है, मगर यहां दिन में गाड़ियां खड़ी रहती हैं, जिससे मैदान खराब हो जाता है। बाउंड्रीवाल नहीं होने से किसी को रोक भी नहीं सकते। यहां अवैध गुमटियां भी लगने लगी हैं।

पहले हुआ था फुटबाल टूर्नामेंट - दो नंबर स्कूल मैदान में फुटबाल टूर्नामेंट भी बहुत होते थे, लेकिन अब नहीं होते। मां कनकेश्वरी फुटबाल क्लब द्वारा यहां आखिरी बार टूर्नामेंट वर्ष 2019 में करवाया गया था। इसके बाद से कोई फुटबाल टूर्नामेंट नहीं हुआ। फुटबाल टूर्नामेंट कराने के लिए मैदान का ज्यादा ख्याल रखना होता है, लेकिन यहां पानी का छिड़काव करने की भी व्यवस्था नहीं है।

राज्य स्तरीय कुश्ती स्पर्धा भी हुई - इसी मैदान पर विजय बहादुर व्यायामशाला भी है। इस अखाड़े की मेजबानी में मैदान पर ही कुछ माह पहले राज्य स्तरीय कुश्ती स्पर्धा भी हुई थी। हालांकि तब सभी व्यवस्थाएं कुश्ती संघ द्वारा की गई थी।

मैदान का जल्द विकास होगा - नगर निगम शाला प्रकोष्ठ के सहायक यंत्री आशुतोष शर्मा का कहना है कि 29 करोड़ रुपये में बाउंड्रीवाल और मैदान के विकास की योजना है। इसके लिए दूसरी बार टेंडर जारी किए गए हैं। जल्द मैदान का विकास होगा।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close