इंदौर। युवक को अगवा कर दो लाख रुपए की फिरौती मांगने वाले आरोपितों ने उसे युवती से मिलाने के बहाने बुलाया था। गिरोह में शामिल एक महिला से युवक की दोस्ती थी। साजिश के तहत आरोपितों ने युवक को संदिग्ध परिस्थिति में पकड़कर बंधक बना लिया और कहा कि तेरी लाश बोरे में भरकर पत्नी को भेजेंगे। पुलिस को शक है कि आरोपित इसी तरह अन्य लोगों से फिरौती वसूल चुके हैं। चारों आरोपितों को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया है। हीरा नगर थाना टीआई राजीवसिंह भदौरिया के मुताबिक निजी स्कूल के कर्मचारी अनिल रामपाल निवासी गौरीनगर का बुधवार शाम अपहरण हो गया था। आरोपित उसकी पत्नी मंजू से वाट्सएप कॉलिंग कर दो लाख रुपए की फिरौती मांग कर रहे थे। अनिल की कनपटी पर पिस्टल अड़ाए फोटो भेज रहे थे।

पुलिस ने मामले में शुक्रवार रात आरोपित किशोर खंडारे (मलाड मुंबई), उसकी पत्नी मेघा उर्फ बैगम खातून, साथी रोनी शेख और उसकी पत्नी लीमा को गिरफ्तार कर लिया था। पूछताछ में मेघा ने बताया कि उसकी किशोर से दूसरी शादी है। पहले वे बाणगंगा क्षेत्र में रहते थे। इसी दौरान उसकी अनिल से दोस्ती हुई थी। दत्तनगर (राजेंद्र नगर) जाने के बाद भी अनिल संपर्क में था। बुधवार को उसे युवती से मिलाने के बहाने बुलाया था। जैसे ही वह कमरे पर आया, संदिग्ध अवस्था में उसे पकड़ लिया। चारों ने उसकी पिटाई की और बंधक बना लिया। इसके बाद उसकी पत्नी मंजू से दो लाख रुपए की मांग शुरू कर दी।

एसआई जगदीश मालवीय के मुताबिक आरोपितों ने मंजू को वीडियो कॉल भी किए थे, जिसमें बताया था कि अनिल की कनपटी पर पिस्टल अड़ा दी, लेकिन वह एक लाइटर निकला। पुलिस ने उसे जब्त कर लिया है। पुलिस चारों आरोपितों से अन्य वारदात के संबंध में पूछताछ कर रही है। आरोपितों को 12 फरवरी तक रिमांड लिया है। उनके घर से एक डायरी भी मिली है, जिसमें बांग्ला भाषा में लिखा हुआ है। उसके संबंध में भी पूछताछ की जा रही है।

Posted By: Prashant Pandey

fantasy cricket
fantasy cricket