इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि, Kisan Indore News। जिले के 186 किसानों की गेहूं की उपज के 2.73 करोड़ रुपये खाने वाले व्यापारियों की संपत्ति कुर्क करने के बाद नीलाम भी की जाएगी। इसके लिए प्रशासन ने पूरी तैयारी की है। खंडेवाल व्यापारी परिवार के आरोपितों को तीन-तीन बार नोटिस भेजने, घर और प्रतिष्ठानों पर नोटिस चस्पा करने के बावजूद उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया। इसके बाद प्रशासन ने सार्वजनिक तौर पर जाहिर सूचना प्रकाशित की है। जाहिर सूचना के नोटिस के बाद आरोपित व्यापारियों को सात दिन का समय दिया जाएगा।

तहसीलदार महेंद्र गौड़ ने बताया कि 15 दिन में भी आरोपित व्यापारियों की ओर से किसानों का पैसा नहीं चुकाया गया तो उनकी चिन्हित संपत्ति सील कर दी जाएगी। इसके बाद संपत्ति को नीलाम करने की प्रक्रिया की जाएगी। कुर्क संपत्ति की जानकारी लोक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग के पोर्टल पर भी डाली जाएगी। इस विभाग के जरिए कुर्क संपत्तियों को नीलाम करने की प्रक्रिया की जाती है।

मल्हारगंज, कनाड़िया और कोर्डियाबर्डी में संपत्तियां

प्रशासन द्वारा मल्हारगंज, कनाड़िया और कोर्डियाबर्डी में खंडेलवाल परिवार की संपत्तियां तलाशी गई हैं। इनमें कनाड़िया में गोपाल हरिनारायण खंडेलवाल के नाम से कृषि भूमि है। दीपिका संजय खंडेलवाल के नाम से कोर्डियाबर्डी में 7500 वर्ग मीटर जमीन है। निर्मला राजेंद्र खंडेलवाल के नाम से भी कोर्डियाबर्डी में 7500 वर्ग मीटर जमीन है। गिरधर खंडेलवाल की पत्नी रश्मि खंडेलवाल के नाम से भी कोर्डियाबर्डी में 12 हजार 500 वर्ग मीटर जमीन है। उधर बुड़ानिया में माणकचंद खंडेलवाल की पत्नी कलावती और राजेंद्र खंडेलवाल की पत्नी निर्मला खंडेलवाल के नाम पर भी जमीन है। मल्हारगंज में खंडेलवाल परिवार की एक दुकान भी है।

Posted By: gajendra.nagar

NaiDunia Local
NaiDunia Local