Yoga Tips: इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। योग के जरिए शरीर और मन दोनों को स्वस्थ रखा जा सकता है लेकिन जरूरी है तो इसके नियमों और आसन के सही तौर-तरीकों को जानने की। वर्तमान में योग करना बहुत से लोगों की दिनचर्या का अंग बन गया है। बच्चे, बुजुर्ग और युवा सभी योग के महत्व को समझने लगे हैं। इसे विशेष महत्व भी देने लगे हैं जिसके चलते स्वस्थ तन-मन पाना आसान लगने लगा है।

योग व्यायाम नहीं है

योग विशेषज्ञ प्रार्थना दुबे के अनुसार योग को व्यायाम समझने की भूल नहीं करनी चाहिए क्योंकि व्यायाम और कसरत से शरीर की मांसपेशियां मजबूत बनती है। जबकी योग करने से तन-मन का तनाव दूर होता है। इससे शरीर को स्वस्थ और मन को स्थिर व शांत बनाया जा सकता है। व्यायाम और योग दोनों ही शरीर को दुरुस्त करने का काम अवश्य करते हैं लेकिन दोनों की प्रकृति अलग-अलग होती है। योग का समुचित लाभ मिले उसके लिए उसके नियमों को जानना भी जरूरी है। योग का पहला नियम है कि वह निश्चित समय पर किया जाए। आपके द्वारा किए गए योग की सफलता इसी में है कि योग करने का समय निश्चित हो और प्रतिदिन आप उसी निर्धारित समय पर योग करें।योग सुबह खाली पेट करें। यदि शाम के वक्त योग कर रहे हैं तो योग करने और भोजन के बीच में तीन से चार घंटे का अंतराल होना चाहिए।

सबसे अच्छा समय सुबह

योग करने के लिए सबसे अच्छा समय सुबह का होता है जब वातावरण एकदम शांत होता है और इस समय आपका मन भी स्थिर और शांत रहता है। योग का दूसरा नियम है कि दिशा का ध्यान रखना। दिशा का हमारे जीवन में विशेष प्रभाव पड़ता है। यदि आप सुबह के समय योग कर रहे हैं तो योग करते समय अपना चेहरा पूर्व या उत्तर दिशा में रखें। यदि शाम को योगाभ्यास कर रहे हैं तो उस वक्त चेहरा पश्चिम या दक्षिण दिशा की ओर रखना चाहिए। योग का तीसरा नियम स्थान के चयन को समझाता है। योग सही स्थान पर ही किया जाना चाहिए। जहां योग कर रहे हैं वह स्थान साफ होना चाहिए और वहां शांति भी होना चाहिए। योग करने के लिए पर्याप्त स्थान हो। स्थान पर प्रकाश और हवा की सुचारू व्यवस्था हो ताकि शुद्ध हवा आपको मिल सके।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close