इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Indore News। शहर के विभिन्न मठ-मंदिरों द्वारा पीड़ित मानवता की सेवा के विभिन्न उपक्रम संचालित किए जा रहे हैं। कहीं भोजन सेवा तो कहीं स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जाती हैं। इसमें पश्चिम क्षेत्र स्थित लक्ष्मी वेंकटेश देवस्थान परिसर के वेंकटेश औषधालय का भी विशेष स्थान है। यहां प्रतिदिन 80 से अधिक रोगी विभिन्न रोगों के उपचार के लिए आते हैं। सुबह नौ से 12 बजे तक औषधालय में रोगियों को विशेषज्ञों के परामर्श के साथ ही दवाई भी नि:शुल्क दी जाती है।

साथ ही कैंसर रोगियों का उपचार भी आयुर्वेद के जरिए किया जाता है। चिकित्सा कार्य में आठ लोगों का दल सहयोग देता है। 125 साल पुराने इस मंदिर में वेणुगोपाल संस्कृत विद्यालय का संचालन भी किया जाता है। इसमें 50 लोगों को कर्मकांड की शिक्षा दी जाती है। इनके लिए आवास, भोजन और शिक्षा आदि की सभी व्यवस्थाएं लक्ष्मी वेंकटेश देवस्थान ट्रस्ट कमेटी द्वारा किया जाता है। मंदिर परिसर में गोशाला का भी संचालन किया जा रहा है। इसमें 50 गिर गाय हैं जिनकी विशेष देखरेख की जाती है। मंदिर परिसर में लक्ष्मी वेंकटेश के साथ हनुमान मंदिर भी है। औषधालय के अलावा संस्कृत महाविद्यालय और सत्संग भवन भी बने हैं।

मंदिर ट्रस्ट के पंकज तोतला बताते है कि औषाधालय में होम्योपैथिक पद्धति से उपचार होता है। वर्षभर मंदिर में उत्सवों की धूम रहती है। हर महीने कोई न कोई उत्सव मनाया जाता है। सभी उत्सव दक्षिण भारतीय पद्धति से संपन्न होते हैं। मुख्य आयोजन में ब्रह्मो और रथयात्रा महोत्सव, गुरु पूर्णिमा महोत्सव, रामनुजाचार्य जयंती महोत्सव शामिल है। यहां हर वर्ष सजने वाले फूल बंगले के प्रति भक्तों का विशेष आकर्षण होता है। इसमें शामिल होने देशभर से भक्त आते हैं।

Posted By: Sameer Deshpande

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags