इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दिगंबर जैन तेरापंथी मंदिर, शक्कर बाज़ार में संगीतमय याज्ञ मंडल विधान का आयोजन धूमधाम से संपन्न हुआ। इस अवसर पर मंदिर में 1008 भगवान आदिनाथ की मूर्ति विराजित की गई। इस अवसर पर निकली शोभायात्रा में बड़ी संख्या में समाजजन जुटे। यात्रा को लेकर समाजजन में खासा उल्लास था। जय जिनेंद्र के जयघोष लगाए जा रहे थे। पारंपरिक वेशभूषा में महिला और पुरुष कतारबद्ध होकर चल रहे थे। इस दौरान युवाओं के हाथ मे जैन ध्वजा थी जो आकर्षण का केंद्र बनी। विभिन्न सामाजिक संगठनों ने यात्रा का स्वागत किया।

सकल दिगंबर जैन समाज युवा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष और आयोजक मनीष नेहा सोनी , मार्गदर्शक सुयश जैन और उपाध्यक्ष सोरभ जैन ने बताया की आयोजन की शुरुआत सुबह 7 बजे शोभायात्रा के साथ हुई। पीपली बाज़ार से शोभायात्रा निकल कर विभिन्न मार्ग से होते हुए तेरापंथी मंदिर शक्कर बाज़ार पहुची। यहां भगवान के कलश-शांतिधारा करने के साथ पूजा की गई। याज्ञ मंडल विधान का संगीतमय आयोजन हुआ। मंदिर जी में श्रीजी की मूर्ति विराजित करने का सौभाग्य शंकरलाल मूलचंद मावावाला परिवार को प्राप्त हुआ। मूर्ति विराजित करने का सौभाग्य प्राप्त करने वाले लाभार्थी परिवार का युवा व महिला प्रकोष्ठ के साथ मंदिर ट्रस्ट कमेटी द्वारा द्वारा सम्मान किया गया। आयोजन में प्रमुख रूप से मनीष सोनी, राहुल सेठी, प्रदीप चोधरी, चक्रेश बडकुल, महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष पूजा कासलीवाल, ललित पाटोदी, यश जैन सहित सैकड़ों समाजजन आयोजन में उपस्थित थे।

जुलूस की व्यवस्था महिला प्रकोष्ठ ने संभाली - मार्गदर्शक कल्पना जैन और सहमंत्री अंशु पाटनी ने बताया कि पीपली बाज़ार से जुलूस निकाला गया। यहां से मंदिर तक जुलूस मार्ग पर सभी व्यवस्थाएं महिला प्रकोष्ठ की टीम द्वारा संभाली गई। भगवान की मूर्ति को विशेष पालकी में लाभार्थी परिवार लेकर चले थे। मार्ग में जगह जगह समाजजन द्वारा श्रीजी के दर्शन का लाभ लिया गया। इस दौरान उन्होंने भगवान की पूजा भी की।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close