इंदौर। मध्य प्रदेश में बारिश का सिलसिला जारी है। लगातार हो रही बारिश से नदी-नाले उफान पर हैं। कुछ जगह मकान धराशायी हुए तो कई जगह नदियों में बाढ़ की स्थिति होने पर आवागमन बाधित रहा। उधर, सरदार सरोवर बांध के गेट खोले जाने से बड़वानी में नर्मदा का जलस्तर 131 मीटर से घटकर शुक्रवार शाम 130 मीटर पर आ गया। धार जिले के निसरपुर क्षेत्र में डूब प्रभावितों को हटाने का कार्य जारी है। प्रदेश में विभिन्न् स्थानों पर नौ लोगों के बहने की सूचना है। इनमें कुछ लोगों को बचा लिया गया तो कुछ अभी भी लापता हैं। स्थानीय सूत्रों के मुताबिक धार, झाबुआ, उज्जैन और मंदसौर में सरकार ने शनिवार को एहतियात के तौर पर स्कूलों की छुट्टी घोषित कर दी है।

मंदसौर में सेल्समैन बहा

मालवा-निमाड़ क्षेत्र में तीन दिन से लगातार बारिश हो रही है। मंदसौर जिले में आठ मकान गिरे हैं। ग्राम उदपुरा में राशन दुकान का सेल्समैन गुरुवार रात नाला पार करते समय बह गया था। शुक्रवार सुबह उसका शव मिला। ग्राम सालरिया में मवेशी चराने गए लोग नाले के बीच फंस गए थे।

उन्हें जेसीबी की मदद से निकाला गया। देवरी खवासा और महागढ़ के बीच परपड़िया नाले में टिक-टॉक पर वीडियो बनाने के दौरान महागढ़ का पप्पू सिंह चंद्रावत पुलिया के पाइप में फंस गया। समय रहते उसे दोस्तों ने बाहर निकाल लिया। झाबुआ जिले में मिट्टी धंसने से मिनी ट्रक नाले में बह गया।

शाजापुर जिले में लखुंदर, कालीसिंध, चीलर, पार्वती, नदियां उफान पर हैं। एक दर्जन से ज्यादा रास्ते बंद रहे। बुरहानपुर में ताप्ती नदी खतरे के निशान 220.800 मीटर से पांच मीटर ऊपर 225.800 मीटर पर बह रही है।

खंडवा जिले में नदी-नाले उफान पर होने से फसलें बर्बाद हो गई हैं। धार जिले में बलवंती नदी में बदनावर में 10 साल के बालक के साइकिल सहित बह जाने की खबर है। तिरला क्षेत्र में भी एक व्यक्ति की बहने से मौत हो गई। आलीराजपुर जिले के छकतला, आंबुआ और उदयगढ़ में तीन युवक बह गए।

घंटों तक बंद रहे प्रमुख मार्ग

भोपाल अंचल के कुछ जिलों में काफी देर तक आवागमन बंद रहा। राजगढ़ जिले के सारंगपुर क्षेत्र के अमलावता गांव के तीन युवक गुस्र्वार रात करीब पौने ग्यारह बजे काई नदी का रपटा पार करते समय बह गए। इनमें से मोहन भिलाला (20) खजूर का पेड़ पकड़कर बच गया।

उसे ग्रामीणों ने निकाल लिया। जबकि दिव्यांग बबलू राजपूत (25) और सोनू वर्मा(22) का शुक्रवार शाम तक सुराग नहीं लगा। रायसेन जिले में बेतवा नदी का पानी पग्नेश्वर पुल पर होने से रायसेन-सांची मार्ग गुरुवार रात से बंद है। विदिशा जिले के भाटनी के पास नेवन नदी का पानी पुल पर करीब 15 फीट होने से विदिशा-गैरतगंज मार्ग देर शाम तक बंद रहा।

बढ़ा बरगी बांध का जलस्तर

जबलपुर अंचल में बरगी बांध का जलस्तर बढ़ने से 15 गेट खोले गए। मंडला, बालाघाट, नरसिंहपुर जिले में नदियों का जलस्तर बढ़ गया है। बालाघाट में 135 गांवों में अलर्ट जारी किया गया है। नरसिंहपुर में नर्मदा की बाढ़ के दौरान सतधारा में नर्मदा के बीचोंबीच एक टापू पर फंसे साधु को बचाया गया।

आगे क्या : राजस्थान की तरफ खिसका अवदाब का क्षेत्र

दो दिन तक मप्र के विभिन्ना क्षेत्रों को तरबतर करने के बाद अवदाब का क्षेत्र शुक्रवार शाम को राजस्थान में दाखिल हो गया। इससे अब प्रदेश में बरसात की गतिविधियों में कमी आने की संभावना है। हालांकि इस दौरान रुक-रुक कर हल्की बौछारें पड़ने का सिलसिला जारी रहेगा। मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि अवदाब के क्षेत्र के कारण ही मप्र में तेज बारिश हो रही थी। यह क्षेत्र शुक्रवार शाम को राजस्थान के उदयपुर पहुंच गया है।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan