इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। हनीट्रैप मामले में जेल भेजी गई पांच महिला आरोपितों में से तीन के परिजन गुरुवार को उनसे मिलने जिला जेल पहुंचे थे। यहां आरती ने अपने भाई से कहा कि मुझे झूठे आरोप में फंसा दिया गया है। मेरी जमानत करवाओ। जानकारी के अनुसार गुरुवार को आरोपित आरती दयाल से मिलने उसका भाई, श्वेता विजय जैन से पति और नाबालिग बेटा एवं बरखा से मिलने पति अमित सोनी पहुंचा था। जेल प्रशासन ने करीब 15-15 मिनट तक उनकी मुलाकात करवाई। सूत्रों ने बताया कि इस पूरी मुलाकात के दौरान आरती रोती रही। उसने भाई से जल्द जमानत करवाने के लिए कहा। बेटा भी श्वेता से मिलकर रोता रहा। उसने किसी की मदद नहीं करने की बात भी अपनी मां से कही। इसके अलावा अमित ने भी बरखा से मुलाकात की।

आरोपितों के वकील भी उनसे मिलने पहुंचे थे। जेल सूत्रों के अनुसार महिला आरोपितों के लिए परिजन घर से कपड़े और अन्य सामान लेकर आए थे। इसकी जांच की गई। सौंदर्य प्रसाधन सामग्री और अन्य सामान बाहर निकलवा दिया गया। केवल कपड़े अंदर ले जाने की अनुमति दी गई। अधिकारियों ने बताया कि पांचों आरोपितों को जेल में अलग-अलग रखा गया है। वे सामान्य व्यवहार कर रही हैं।

आरती ने बोतलबंद पानी तो श्वेता ने मांगा चश्मा : जानकारी के मुताबिक महिला आरोपितों की जब जेल के अधिकारियों के सामने पेशी की गई तो अधिकारियों ने पूछा कि कुछ दिक्कत तो नहीं है। इस पर आरती ने कहा कि उसे पानी की बोतल उपलब्ध करवाई जाए। इस पर अधिकारियों ने कहा कि बाहर से बोतलबंद पानी तो उपलब्ध नहीं करवाया जा सकता लेकिन एक खाली बोतल दे दी जाएगी। श्वेता विजय जैन ने कहा कि उसे आंखों की परेशानी है। इसलिए चश्मा दिया जाए।

चालक को नहीं मिली जमानत

हनीट्रैप मामले में आरोपित महिलाओं के चालक को जिला कोर्ट से राहत नहीं मिली। मामले में पुलिस ने अन्य आरोपितों के साथ चालक ओमप्रकाश कोरी निवासी आदमपुरा छावनी भोपाल को भी आरोपित बनाया है। उसकी पत्नी मंजू ने जिला न्यायालय में जमानत आवेदन प्रस्तुत किया था। एजीपी अभिजीतसिंह राठौर ने अभियोजन की तरफ से तर्क रखा कि जिन तारीखों पर आरोपित महिलाओं ने अश्लील वीडियो बनाए हैं, उन तारीखों पर चालक भी साथ था। उसे जमानत पर छोड़ा तो वह सबूतों को प्रभावित कर सकता है। इस पर सत्र न्यायाधीश विवेक सक्सेना ने जमानत आवेदन खारिज कर दिया।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020