Makar Sankranti 2020 इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सूर्य के उत्तरायण होने का पर्व मकर संक्रांति 15 जनवरी को हर्षोल्लास से मनाया जाएगा। सूर्य का धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश मंगलवार रात 2.06 बजे होगा। इस अवसर पर स्नान-दान और पूजन के लिए संक्रांति का पुण्यकाल बुधवार सुबह सूर्योदय के साथ सुबह 7.10 से सूर्य अस्त तक शाम 5.56 बजे तक 10 घंटे 46 मिनट रहेगा। इसी के साथ मांगलिक कार्यों का श्रीगणेश होगा। आसमान जहां पतंगों से रंग-बिरंगा होगा, वहीं विभिन्न पारंपरिक खेल गिल्ली, डंडा और सितोलिया आदि भी खेले जाएंगे। ज्योतिर्विद विजय अड़ीचवाल ने बताया कि इस बार संक्रांति का वाहन गर्दभ और उपवाहन मेष है। वह सफेद वस्त्र धारण कर पश्चिम दिशा में गमन करते हुए नजर आ रही है। उनका दंड आयुध और पात्र कांस्य का है। उन्हें पक्के अन्न का भक्षण करते हुए दर्शाया गया है। केतकी का पुष्प धारण किए हुए शरीर पर मिट्टी का लेपन है।

ये दान करें : काली मंदिर के ज्योतिर्विद पं. शिवप्रसाद तिवारी ने बताया कि 15 जनवरी को सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करेगा। मकर लग्न में संक्रांति का प्रवेश होगा और स्थिर लग्न वृषभ में विशेष महत्व रहेगा। इस मौके पर तिल के लड्डू, खिचड़ी, वस्त्र, कंबल, मच्छरदानी, मुद्रा दान का विशेष महत्व है। इस अवसर पर नर्मदा और शिप्रा में स्नान के लिए भी श्रद्धालु बड़ी संख्या में जाएंगे।

राशियों पर प्रभाव : मेष राशि वालों को धन और वृषभ राशि वालों के मान-यश में वृद्धि के योग बनेंगे। इसके अलावा मिथुन शत्रुओं पर विजय और कर्क वालों के खर्च बढ़ने की संभावना है। सिंह के लिए यह भाग्य उदय और तुला के लिए नई संपत्ति खरीदने के योग बनेंगे। वृश्चिक विवाद की स्थिति और धनु को पदोन्नाति के अवसर मिलेंगे। मकर राशि के लिए लाभदायक और कुंभ को मान-सम्मान मिलेगा। मीन को रोग और पीड़ा का सामना करना पड़ सकता है। कन्या के लिए मिश्रित फलदायी है।

ये रहेंगे विवाह के मुहूर्त : सूर्य के उत्तरायण होते ही विवाह कार्य का श्रीगणेश हो जाएगा। इस वर्ष के पहले विवाह सीजन में विवाह के 45 मुहूर्त रहेंगे। जनवरी 15, 16, 17, 18, 19, 20, 26, 29, 30, 31 सहित कुल दस दिन शादियां होंगी। फरवरी में 1, 3, 4, 9, 10, 11, 14, 15, 16, 25, 26, 27, 28 सहित कुल 13 और मार्च में मार्च में 10 और 11 को दो दिन विवाह मुहूर्त होंगे। इसके अलावा अप्रैल में 16, 17, 25, 26 सहित चार दिन और मई में 1, 2, 4, 5, 6, 15, 17, 18, 19 व 23 सहित कुल दस दिन शादियां होंगी। इसके बाद जून में 11, 15, 17, 27, 29, 30 सहित कुल छह दिन विवाह होंगे। इसके बाद चातुर्मास लगने से मांगलिक कार्य पर फिर रोक लग जाएगी।

चौघड़िया के अनुसार मुहूर्त

- लाभ : सुबह 7.10 से 8.31 बजे तक।

- अमृत : सुबह 8.32 से 9.52 बजे तक।

- शुभ : सुबह 11.12 से दोपहर 12.33 बजे तक।

- चर : दोपहर 3.14 से शाम 4.35 बजे तक।

- लाभ : शाम 4.36 से 5.56 बजे तक।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस