*सकारात्मक प्रयास : युगपुरुष धाम में प्रशिक्षण देकर 7 दिव्यांगों को बनाया आत्मनिर्भर

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मानसिक दिव्यांग होना अभिशाप नहीं रह गया है। उचित देखरेख और प्रशिक्षण मिले तो उन्हें भी आत्मनिर्भर बनाया जा सकता है। शहर के पश्चिम क्षेत्र में स्थित युगपुरुष धाम बौद्धिक विकास केंद्र पंचकुइया रोड पर आत्मनिर्भर भारत की अनूठी तस्वीर नजर आती है। यहां पिछले 15 साल से रह रहे मानसिक दिव्यांगों को प्रशिक्षण देकर स्वरोजगार से जोड़ा जा रहा है। कोई केयर टेकर, तो कोई मास्क, बैग बना रहा है। कोई रसोई में खाना बनाकर अपने सपनों को आकार दे रहा है।

युगपुरुष धाम में वर्तमान में 63 बालक एवं 76 बालिकाओं सहित कुल 139 मानसिक दिव्यांग शिक्षण और प्रशिक्षण ले रहे हैं। बरसों से यहां रह रहे संदीप को केयर टेकर का प्रशिक्षण दिया गया है। अब वह यहां के बालगृह में ही अन्य बालकों के दैनिक कार्यों में सहयोग दे रहा है। बच्चों को ध्यान, नृत्य आदि सिखाकर सात हजार रुपये महीने कमाकर जीवन निर्वाह कर रहा है। एक अन्य दिव्यांग विशाल सुमरा को केयर टेकर के साथ ही बैग बनाने का प्रशिक्षण दिया गया है। इसके अलावा रेखा परमानंद के दोनों पैर नहीं हैं। वह हाथ से मशीन चलाकर प्रतिदिन 12 से 15 मास्क प्रतिदिन बनाती है। इसके अलावा राज और सुभाष को कपड़ों की कटिंग करना सिखाया जा रहा है। हीरा, माधुरी, राधा को रसोई का काम सिखाकर रोजगार से जोड़ा गया है। ये लोग भी दो से सात हजार रुपये तक कमाने लगे हैं।

प्राचार्य डॉ. अनिता शर्मा बताती हैं कि 7 बच्चों को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए एक वर्ष तक प्रशिक्षण दिया गया। इसमें पांच मानसिक दिव्यांग और दो शारीरिक दिव्यांग हैं। युगपुरुष धाम संस्था की स्थापना मानसिक दिव्यांगों को आश्रय देने के उद्देश्य से 2002 में की गई थी। यहां पर 19 बच्चे ऐसे भी हैं जो पिछले 14 साल से यहां रहकर प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। इनकी उम्र 18 साल से अधिक हो चुकी है। 12 बच्चों को व्यावसायिक प्रशिक्षण देकर आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास किया जा रहा है। संस्था के तुलसी शादिजा बताते हैं कि संस्था में जो 139 बच्चे हैं, उनकी देखरेख 32 बहनें कर रही हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020