Metro in Indore: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। इंदौर में चल रहे मेट्रो के काम के बीच गांधीनगर में विशाल डिपो बनाने का काम भी तेजी से जारी है। यहां पर मेट्रो के संचालन और रखरखाव से जुड़े निर्माण कार्य चल ही रहे हैं। इसके अलावा मेट्रो को डिपो के अंदर तक ले जाने के लिए लैंडिंग वे का काम भी तेजी से चल रहा है। 17 पिलर की सहायता से एक लैंडिंग वे भी बनाया जा रहा है। इसके माध्यम से ही मेट्रो ट्रेन डिपो में प्रवेश और निर्गम करेगी।

मिली जानकारी के अनुसार, इंदौर के 31.5 किलोमीटर के मेट्रो ट्रेन कारिडोर के लिए कुल 28 ट्रेनें आएंगी।

ये ट्रेनें मई अंत से आने लगेंगी। इसके लिए फ्रांस की एक कंपनी को ठेका दिया गया है। इससे पहले गांधीनगर डिपो में इन ट्रेनों के रखरखाव और निरीक्षण के लिए व्यवस्था की जा रही है। अगले महीने से यहां पटरी बिछाने का काम शुरू हो जाएगा। विगत शनिवार को मेट्रो रेल कारपोरेशन के एमडी मनीष सिंह ने इसका दौरा भी किया था। उन्होंने यहां के शेड और कंट्रोल रूम के अलावा उस लैंडिंग वे के बारे में भी जानकारी ली थी, जहां से मेट्रो इस डिपो में प्रवेश करेगी ।

सबसे महत्वपूर्ण होगा गांधीनगर स्टेशन

अधिकारियों ने बताया कि गांधीनगर स्टेशन इंदौर का सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण स्टेशन होगा। यहां पर तीन लाइन होगी, जिसमें से दो से ट्रेन अपने रूट पर जाएगी, जबकि तीसरी लाइन से ट्रेन डिपो में आएगी और जाएगी।

स्टेशन से ट्रेन को डिपो में लाने के लिए एक ढलान वाला पुल बनेगा, जिसमें 17 पिलर होंगे। यहां करीब 13 पिलर के लिए पाइलिंग का काम हो चुका है । इस काम को भी मई के अंत तक पूरा करना है। मेट्रो का ट्रायल रन अब अगस्त में रखा गया है। पहले इसकी समय सीमा सितंबर रखी गई थी।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close