इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। सात दिनी 64वां गीता जयंती महोत्सव 12 दिसंबर से गीता भवन मनोरमागंज में आयोजित किया जाएगा। इसमें 50 से अधिक संत गीता के ज्ञान से आमजनों को अवगत कराएंगे। कोरोना के चलते इस बार दो की बजाए प्रतिदिन प्रवचन का एक सत्र होगा। इस दौरान सात दिनों तक विष्णु महायज्ञ भी होगा। गीता जयंती पर 14 दिसंबर को गीता के 18 अध्यायों का सामूहिक पाठ भी होगा।

सत्संग समिति के संयोजक रामविलास राठी ने बताया कि महोत्सव पुरी पीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती के सान्निध्य और जगदगुरु स्वामी रामदयाल महाराज की अध्यक्षता में होगा। राम जन्मभूमि न्यास अयोध्या के कोषाध्यक्ष आचार्य गोविंददेव गिरि महाराज इस महोत्सव का शुभारंभ करेंगे।इसमें गोस्वामी वल्लभराय महाराज, जगदगुरू रामानुजाचार्य स्वामी श्रीधराचार्य महाराज, स्वामी विशोकानंद भारती, महामंडलेश्वर स्वामी जगदीशपुरी महाराज, महामंडलेश्वर स्वामी प्रणवानंद सरस्वती, जीवन प्रबंधन गुरु पं. विजयशंकर मेहता, साध्वी परमानंदा सरस्वती, स्वामी स्वामी सर्वेश चैतन्य आदि संतों के प्रवचन होंगे।

अस्पताल के कायाकल्प पर होंगे सात करोड़ रुपए खर्च

गीात भवन ट्रस्ट द्वारा संचालित गीता भवन अस्पताल के कायाकल्प के अगल चरण की शुरुआत 12 दिसंबर को होगी। इस पर करीब सात करोड़ रुपए खर्च होंगे। यह कायाकल्प कल्याणमल बद्रीप्रसाद गर्ग चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा किया जाएगा। हाल ही में कोरोना को देखते हुए यहां आक्सीजन प्लांट भी लगाया गया है। इस प्लांट पर प्रतिदिन 100 सिलिंडर ऑक्सीजन का उत्सर्जन हो रहा है। इस पर लगभग 80 लाख रुपए की लागत आई है। अब दूसरी मंजिल का काम गीता जयंती महोत्सव के साथ 12 दिसम्बर से प्रारंभ होगा। कायाकल्प के दौरान पूरे अस्पताल में नए पलंग, नई टेबलें, फर्नीचर, वातानुकूलित उपकरण, टीवी, नया कैंटीन और मरीजों के लिए प्रतीक्षालय का निर्माण किया जाएगा।

Posted By: gajendra.nagar

NaiDunia Local
NaiDunia Local