इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना काल में जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) डा.बीएस सैत्या पर ही नाइट कर्फ्यू और कोविड गाइडलाइन के उलंघन का आरोप लगा है। बुधवार को डा. सैत्या का एक वीडियो इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित होने के बाद उन्हें कटघरे में खड़ा किया जा रहा है। इस वीडियो में डा. सैत्या रात के वक्त हुई किसी पार्टी में शराब का गिलास हाथ में लिए बगैर मास्क पहने बचपन का प्यार कहीं भूल नहीं जाना... गाने पर झूमते नजर आ रहे हैं। कांग्रेसी नेताओं ने भी इस वीडियो को ट्वीट कर शासन-प्रशासन की कोरोना नियंत्रित करने की मंशा पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

शहर में इन दिनों रोजाना दो हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। शासन-प्रशासन आम लोगों से सार्वजनिक आयोजनों में शामिल होने से बचने और अनिवार्य रूप से मास्क पहनने की अपील कर रहा है। मास्क नहीं पहनने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा रही है।

ऐसे में बुधवार को डा.सैत्या का वीडियो प्रसारित होने के बाद खुद स्वास्थ्य विभाग सवालों के घेरे में आ गया है। कांग्रेस के प्रदेश समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने कहा कि खंडवा रोड़ स्थित एक फार्म हाउस पर हुई इस पार्टी में स्वास्थ्य विभाग के कई अधिकारी और डाक्टर शामिल हुए थे। सलूजा ने कहा कि डा. सैत्या का यह आचरण कदाचार की श्रेणी में आता है। ऐसा लग रहा है जैसे वे नई शराब नीति के समर्थन में झूम रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग के कुछ ठेकेदारों पर शक

तीन दिन पहले हुई इस पार्टी में स्वास्थ्य विभाग के डाक्टरों के साथ कुछ बाहरी लोग भी शामिल हुए थे। वीडियो प्रसारित करने के पीछे स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ डाक्टर और विभाग के ही एक ठेकेदार की भूमिका बताई जा रही है। कुछ साल पहले तक यह ठेकेदार छोटा-मोटा कामकाज करता था। कुछ ही साल में इसने विभाग में अपना वर्चस्व कायम कर लिया।

पारिवारिक आयोजन में शामिल हुआ था

शनिवार को मैं पारिवारिक आयोजन में शामिल हुआ था। यह वीडियो उसी अवसर का है। मैंने इस संबंध में कलेक्टर को भी बता दिया है।

डा. बीएस सैत्या, सीएमएचओ

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local