इंदौर। नगर निगम इंजीनियर हरभजन सिंह से करीब एक वर्ष पूर्व श्वेता जैन ने बायपास स्थित एक रेस्त्रां में मेरी (आरती दयाल) मुलाकात करवाई थी। हमारे आंखों ही आंखों में इशारे हुए और एक-दूसरे के मोबाइल नंबर शेयर कर लिए। हरभजन ने कहा कि वह आठ करोड़ का ठेका दिलवा सकता है। लेकिन इस बात का श्वेता को पता नहीं चलना चाहिए। उसने झांसा दिया और भोपाल व इंदौर की कई होटलों में संबंध बनाए। यह खुलासा हनीट्रैप गैंग की सदस्य आरती दयाल ने पुलिस पूछताछ में किया है। पुलिस ने लैपटॉप व मोबाइल से अश्लील वीडियो भी बरामद किया है।

गुलमर्ग वैली निवासी 60 वर्षीय हरभजनसिंह की शिकायत पर गिरफ्तार आरोपित आरती और मोनिका से क्राइम ब्रांच व एटीएस पूछताछ करती रही। बुधवार देर रात आरती ने सिलसिलेवार घटना बताई।

...इसलिए दोनों ने बनाया मोटी रकम ऐंठने का प्लान

हरभजन का श्वेता जैन के पास आना जाना था। करीब एक वर्ष पूर्व श्वेता उसे इंदौर लेकर आई और बायपास पर दोनों की मुलाकात करवा दी। मोबाइल नंबर लेने के बाद हरभजन और उसके बीच एसएमएस पर चर्चा शुरू हुई। कई बार उसे मिलने के लिए इंदौर भी बुलाया। आठ महीने पहले हरभजन ने कहा कि वह सरकारी विभागों में आठ करोड़ के ठेके दिलवा देगा, जिससे वह रातोरात करोड़पति बन सकती है। इसके बाद दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ीं। भोपाल आने पर कार व होटलों में ले जाता था। इंदौर भी बुला लेता था। आरती सहायक मोनिका को भी लेकर आती थी।

एक बार हरभजन ने आरती को 20 हजार रुपए देकर शॉपिंग करने भेज दिया। कमरे में मोनिका के साथ ठहरा और संबंध बना लिए। आरती का दावा है कि भोपाल जाते वक्त मोनिका ने उसके साथ हुई घटना बताई और दोनों ने उसी वक्त मोटी रकम ऐंठने का ताना-बाना बुन लिया।

हरभजन आरती और मोनिका का वीडियो मिला

लंबे समय बाद भी ठेके नहीं मिलने पर बात बिगड़ी और आरती व मोनिका ने हरभजन को विजयनगर स्थित होटल में बुलाया। इस दौरान मोबाइल व लैपटॉप में वीडियो रिकॉर्डिंग चालू कर छोड़ दी थी। एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र ने कहा, बरामद गैजेट में जो वीडियो मिला है, उसमें मोनिका और आरती शामिल हैं।

Posted By: Saurabh Mishra

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close