इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि), Corona Crisis Indore। इंदौर में कोरोना को लेकर स्थिति गंभीर होती नजर आ रही है। क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी शादी में भीड़ न जुटाने से लेकर रात के कर्फ्यू तक के नियम लागू कर चुकी है। नियम कायदों से उलट शहर के पास देपालपुर में रविवार शाम दीवाली मिलन के नाम पर भाजपा नेताओं ने भीड़ भरा समारोह आयोजित किया। क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी अध्यक्षता करने वाले सांसद आयोजन में अतिथि बनकर शामिल हुए।

संस्था निर्भय के बैनर तले पूर्व विधायक मनोज पटेल ने देपालपुर में भाजपा कार्यकर्ताओं का दीपावली मिलन समारोह आयोजित किया। तीन घंटे से ज्यादा समय तक चले इस आयोजन में करीब पांच हजार लोग शामिल हुए। भाजपा नगर अध्यक्ष गौरव रणदीवे, जिलाध्यक्ष राजेश सोनकर तमाम नेता आयोजन में शामिल हुए। नेताओं के भाषण भी हुए और भीड़-भाड़ वाला भोज भी आयोजित हुआ। कोरोना के लिए बनी गाइडलाइन की अनदेखी पर कांग्रेस हमलावर हो गई है।

कांग्रेस सचिव राकेश सिंह यादव ने सवाल उठाया कि एक और आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में भाजपा के नेता बड़ी-बड़ी बातें करते हैं। लोगों के लिए दुकानें बंद करवाने से लेकर मास्क नहीं लगाने पर जुर्माना लगाने तक के नियम बनाते हैं। शादियों में भी संख्या तय कर दी गई है लेकिन कोरोना के नियम भाजपा नेताओं पर लागू नहीं होते थे। हजारों लोगों को एक जगह इकट्ठा कर रहे हैं। लोगों को सामूहिक खाना खिलाकर अपनी राजनीति के लिए कोराना बांट रहे हैं। कायदे से लोगों की जान जोखिम में डालने के लिए इन सभी नेताओं पर प्रकरण दर्ज होना चाहिए।

शहर से बाहर हुआ आयोजन

कोरोना के नियम शहर को लेकर बने हैं। देपालपुर के आयोजन में कोरोना गाइडलाइन का पालन किया गया। मैंने मंच से भी लोगों को मास्क पहनने व शारीरिक दूरी बनाए रखने की समझाइश दी थी। - शंकर लालवानी, सांसद

Posted By: sameer.deshpande@naidunia.com

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस