आरोपितों को देवास ले जाकर जब्त किए दो चाकू, बाइक और घटना के समय पहने कपड़े

Murder in Indore:इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पोलोग्राउंड क्षेत्र में बीपीओ कंपनी के कर्मचारी आकाश मिडकिया की हत्या की साजिश उसकी पत्नी के प्रेमी मनीष शर्मा ने बाउंसर के साथ मिलकर शराब पार्टी में की थी। पूछताछ में पता चला कि आकाश की पत्नी वर्तिका देवास स्थित जिस अस्पताल में एचआर मैनेजर है, वहीं काम करने वाले नर्सिंग सुपरवाइजर मनीष शर्मा के साथ उसके अवैध संबंध हैं। यह पता चलने पर आकाश ने देवास जाकर मनीष की पिटाई कर दी थी। उसी दिन बाउंसर अर्जुन मंडलोई और हाउस कीपिंग सुपरवाइजर जीतू वर्मा के साथ मनीष ने शराब पी और कहा कि वह आकाश की हत्या करना चाहता है। तीनों ने मिलकर साजिश रची की। बाद में आकाश की पत्नी को भी उसे मारने के लिए राजी कर लिया।

पोलोग्राउंड स्थित बिजली कंपनी के दफ्तर के सामने 13 अक्टूबर को हुई आकाश की हत्या के मामले में पुलिस ने पांचों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। घटना वाले दिन आकाश पत्नी वर्तिका को देवास जाने के लिए एलआइजी चौराहा छोड़ने गया था। दोनों बदमाशों ने पहले ही रेकी कर हत्या का स्थान तय कर लिया था। आकाश पत्नी को छोड़कर जब बाइक से लौट रहा था, तभी पोलोग्राउंड में आरोपित अर्जुन और अंकित पंवार ने आंख में मिर्च झोंकी और चाकुओं से वार कर हत्या कर दी। इसके बाद दोनों ने हत्या के लिए चाकू, बाइक, मोबाइल उपलब्ध करवाने वाले जीतू को सूचना दी और फरार हो गए।

150 सवाल तैयार किए तब कुबूला गुनाह

हत्या के बाद जब पुलिस को वर्तिका पर शक हुआ तो उससे पूछताछ की। अर्जुन, जीतू और अंकित फरार चल रहे थे। पुलिस को लोगों से पता चला कि वर्तिका के पति का उसके प्रेमी मनीष से झगड़ा हुआ था, जिसके बाद मनीष अस्पताल के बाउंसर अर्जुन को वर्तिका को छोड़ने के लिए इंदौर भेजने लगा था।

वर्तिका से जब अर्जुन के बारे में पूछा तो उसने पहचानने से मना कर दिया। मनीष के साथ संबंधों से भी इन्कार किया। वर्तिका शातिर तरीके से जवाब दे रही थी। सच्चाई उगलवाने के लिए पुलिस ने करीब 150 सवाल तैयार किए, फिर एक के बाद एक पूछना शुरू किए। वर्तिका ने पहले अर्जुन का फोटो पहचानने से मना कर दिया, बाद में दूसरा फोटो दिखाया तो पहचान लिया। बाद में उसने अवैध संबंध भी कुबूल लिए।

दो को जेल भेजा, तीन आरोपित रिमांड पर

षड्यंत्र करने वाली पत्नी वर्तिका निवासी वाल्मीकि नगर और प्रेमी मनीष शर्मा निवासी ग्राम बांगर जिला देवास को जेल भेज दिया। वहीं आरोपित जीतू वर्मा निवासी ग्राम जामनोद जिला देवास, अर्जुन मंडलोई ग्राम अमल्या पिपलिया जिला देवास और अंकित उर्फ बिट्टू पंवार निवासी कोयला फाटक जिला उज्जैन को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है।

मंगलवार को बाणगंगा थाना टीआइ राजेंद्र सोनी ने बताया कि आरोपितों से दो चाकू, बाइक और घटना के समय पहने कपड़े बरामद कर लिए हैं। मोबाइल की तलाश की जा रही है। हत्या के बाद अर्जुन और अंकित ने दोनों चाकू देवास और उज्जैन के बीच एक तालाब में और कपड़े कुएं में फेंक दिए थे।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local