इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि, MYH Indore। महाराजा यशवंतराव (एमवाय) अस्पताल में ब्लैक फंगस से पिछले एक साल में तीन मरीजों की मौत हुई है। अस्पताल में इस माह 19 जुलाई और 30 जुलाई को एक-एक मरीजों की मौत के अलावा एक अन्य मरीज की भी मौत हुई है। एमवायएच में ब्लैक फंगस से अब 56 लोगों की मौत हो चुकी है। एमवाय अस्पताल में ब्लैक फंगस के उपचार के लिए भर्ती मरीजों की संख्या में कमी आई है। पिछले कुछ दिनों से जहां 100 अधिक मरीज अस्पताल में भर्ती थे। वहीं अब एमवायएच में ब्लैक फंगस के 89 मरीज ही भर्ती है। शनिवार को एमवायएच में ब्लैक फंगस के दो नए मरीज भर्ती हुए। शनिवार को अस्पताल में ब्लैक फंगस के पांच मरीजों की सर्जरी और किसी मरीज की एंडोस्कोपी नहीं हुई।

अब तक एमवायएच में 874 मरीजों की सर्जरी और 1360 की एंडोस्कोपी हो चुकी है। शुक्रवार को अस्पताल से स्वस्थ्य होकर पांच मरीज अपने घर गए। अभी तक अस्पताल से 600 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके हैं। वर्तमान में अस्पताल में भर्ती मरीजों के लिए 1428 एंटी फंगल इंजेक्शन उपलब्ध है।

एमवायएच में लंबे समय से ब्लैक फंगस से संक्रमण मरने वालों की संख्या पहले के मुकाबले कम हुई है। हालांकि एक माह में तीन मरीजों की मौत होने से अस्पताल प्रबंधन भी सचेत हुआ है। एमवायएच में भर्ती होने वाले ब्लैक फंगस के कई मरीज इंदौर के आसपास के शहरों से आकर भर्ती हुए हैं। इसके अलावा कई मरीज घर जाने के बाद भी पुन: फालोअप के लिए एमवायएच में आते है। उनमें से यदि किसी मरीज की हालत ज्यादा खराब होती है तो उसे पुन: उपचार के लिए एमवायएच में भर्ती किया जाता है।

Posted By: gajendra.nagar

NaiDunia Local
NaiDunia Local