इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि), Naidunia Sehat Shala। वर्तमान में अधिकांश लोगों को उच्च रक्तचाप की समस्या है। युवा भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। तनाव, बदली जीवन शैली, गैजेट्स का अत्यधिक इस्तेमाल, प्रतिस्पर्धा का बढ़ना, चिंता आदि मुख्य कारणों से इसकी समस्या बढ़ी है। यदि इसे नियंत्रित नहीं किया जाए तो इसके परिणाम घातक हो सकते हैं। नईदुनिया सेहतशाला में रविवार को उच्च रक्तचाप और प्राणायाम पर विशेष सत्र आयोजित किया गया। इसमें योग विशेषज्ञ व योग चिकित्सक डा. हेमंत शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि उच्च रक्तचाप को यदि नियंत्रित करना है तो अपने आहार, भोजन और व्यायाम पर ध्यान देना होगा।

उच्च रक्तचाप पर विस्तार से जानकारी देते हुए डा. शर्मा ने बताया कि वक्रासन, शशकासन, भुजंगासन, अर्द्धशलभासन, शवासन, ब्रह्ममुद्रा का अभ्यास कर उच्च रक्तचाप को नियंत्रित किया जा सकता है। बात यदि प्राणायाम की करें तो दीर्घ श्वसन, योगिक श्वसन, अनुलोम-विलोम, भ्रामरी प्राणायाम बहुत उपयोगी हैं। उच्च रक्तचाप में अनुलोम-विलोम ज्यादा करना चाहिए। अनुलोम-विलोम प्राणायाम का विशेष अभ्यास कराते हुए उन्होंने बताया कि इसे करने के लिए किसी भी ध्यानात्मक आसन में बैठ जाएं। दाहिने हाथ की तर्जनी और मध्यमा अंगुली को मोड़कर अंगूठे के मूल में लगाएं और शेष दोनों अंगुलियां व अंगूठा सीधा रखें।

अंगूठे से दाहिनी नासिका को बंद करके बाएं स्वर से श्वास लें और दाहिने स्वर से श्वास छोड़ें। श्वास लेने को पूरक और छोड़ने को रेचक कहते हैं। इसके बाद दाहिने स्वर से श्वास लेकर बाएं स्वर से छोड़ें। इस चक्र को 10 से 15 बार दोहराएं। रक्तचाप के लिए तो यह प्राणायाम बेहतर है ही, मस्तिष्क को शांत व नाड़ी तंत्र को संतुलित रखता है। आयोजन के सहयोगी गोविंद मसाले, जियो रियलिटीज, पटेल मोटर्स, सीवी रमन यूनिवर्सिटी और अमलतास इंडिया है।

आज विशेष सत्र : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर नईदुनिया सेहतशाला में आयुष मंत्रालय द्वारा जारी योग प्रोटोकाल के अनुसार योगाभ्यास कराया जाएगा। इसके अलावा डेस्कटाप योग के बारे में भी विशेष तौर पर बताया जाएगा। यह सत्र उनके लिए खासतौर पर रहेगा जो दिनभर आफिस में बैठकर कार्य करते हैं। इसमें डा. हेमंत शर्मा आफिस में कुर्सी पर बैठकर किए जा सकने वाले योगासनों के बारे में बताएंगे। साथ यह यह उनके लिए भी उपयोगी होगा जो किसी कारण खड़े होकर या जमीन पर बैठकर योग नहीं कर सकते।

सवाल-जवाब

योग में करियर बनाने के लिए कौनकौन से कोर्स कहां से करना चाहिए। -मुस्कान फरक्या, इंदौर

- देवी अहिल्या विश्वविद्यालय, यूजीसी एवं मान्यता प्राप्त संस्थाओं से एक साल का योग में डिप्लोमा या डिग्री कोर्स कर सकते हैं। इंदौर के अलावा मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान दिल्ली, विवेकांनद योग अनुसंधान संस्थान बेंगलुरु, कैवल्य धाम योग संस्थान लोनावला, देव संस्कृति विश्वविद्यालय, लव कुश यूनिवर्सिटी अहमदाबाद से भी योग कोर्स कर सकते हैं।

चार वर्ष से उच्च रक्तचाप, कमर और घुटना दर्द है मैं कौन सा योगाभ्यास करूं? -किरण सिंह, इंदौर

- सूक्ष्म व्यायाम, मेरूदंड के सरल आसन जैसे ताड़ासन, कोणासन, अर्द्ध कटिचक्रासन, सेतुबंधासन, शलभासन, भुजंगासन, मकरासन, अनुलोम-विलोम, भ्रामरी, ध्यान और शवासन प्रतिदिन करें।

योग फोटो कांटेस्ट

योग फोटो कांटेस्ट के अंतिम दिन डा. हेमंत शर्मा ने एक आसन करके दिखाया जिसका नाम और उसे करते हुए फोटो प्रतिभागियों को भेजना था। कई प्रतिभागियों ने उस आसन का नाम पर्वतासन लिखा जबकि सही नाम पद्मपर्वतासन था। ग्वालियर के आयुष आर्य का फोटो सर्वश्रेष्ठ चुना गया। अन्य सभी चयनित फोटो नईदुनिया सेहतशाला फेसबुक पेज पर देखे जा सकते हैं।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local