इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शनिवार को एमवाय हॉस्पिटल से 12 दिन बाद रानी भियाने अपने नवजात को लेकर पंचम की फेल स्थित घर पहुंची। दोपहर 3.30 बजे एमवाय हॉस्पिटल प्रबंधन ने नवजात व उसकी मां को डिस्चार्ज किया। अभी नवजात को उसकी मां के पास अस्थायी रूप से सौंपा गया है। दोनों की डीएनए जांच रिपोर्ट आना बाकी है। शनिवार को जब रानी अपने पति लोकेश के साथ नवजात को लेकर घर आई तो स्वजनों ने ढोल-नगाड़े के साथ नवजात व रानी का स्वागत किया। बच्चों ने घर के बाहर पटाखे भी जलाए। नवजात व रानी की आरती उतारी गई और फिर उन्होंने प्रवेश किया है। बता दें कि एमवायएच से नवजात के गुम होने के बाद रानी घर जाने को तैयार नहीं हो रही थी और आखिरकार जब नवजात मिला उसके बाद ही वो उसे लेकर घर आई।

'पूरा परिवार अब साथ है'

रानी भियाने ने बताया कि बच्चे को घर लाकर उन्हें बहुत अच्छा लग रहा है। बहुत खुशी है वे अपने दो बच्चों के साथ अब घर पर हैं। घर पर रानी का 10 साल का बड़ा बेटा भावेश नवजात को गोद में लेकर उसे खूब खिलाता रहा।

संयोगितागंज पुलिस ने पत्र से दी डिस्चार्ज करने की सूचना

एमवाय हॉस्पिटल के अधीक्षक डॉ. पीएस ठाकुर के मुताबिक संयोगितागंज पुलिस ने हमें पत्र से सूचित किया कि बच्चे को डिस्चार्ज किया जा सकता है। नवजात व उसकी मां मेडिकली रूप से फिट थे इस वजह से उन दोनों को डिस्चार्ज किया गया। उधर डीएनए रिपोर्ट आने का भी इंतजार हो रहा है।

Posted By: dinesh.sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस