इंदौर। No Plastic ईसाई समाज रविवार से क्रिसमस की तैयारियों में जुट जाएगा। आगमन के पहले रविवार को कैथोलिक ईसाई समाज द्वारा बैंगनी मोमबत्ती जलाई जाएगी। इस बार समाजजन ग्रीन और क्लीन क्रिसमस (हरियाली और स्वच्छता से भरा क्रिसमस) मनाएंगे। इसमें जहां समाजजन को पौधारोपण के लिए प्रेरित किया जाएगा, वहीं त्योहार के दौरान मिठाइयां और उपहार देने के लिए प्लास्टिक का उपयोग नहीं होगा, बल्कि इन्हें लपेटने के लिए कागज और कपड़े की थैलियों का इस्तेमाल होगा। बिशप चाको ने बताया कि इंदौर के सभी नौ गिरजाघरों ने मिलकर निर्णय लिया है कि इस बार समाज ग्रीन और क्लीन क्रिसमस मनाएगा। इसमें सभी कैथोलिक नौ गिरजाघरों के साथ समुदाय के स्कूल, अस्पताल और अन्य संस्थान शामिल होंगे। 23 दिसंबर को क्रिसमस ग्रीटिंग्स कार्ड जारी किया जाएगा इसमें नागरिक को प्लास्टिक और आतिशबाजी को हमेशा के लिए अलविदा करने का समर्थन की बात कहेंगे।

क्रिश्चियन मीडिया फोरम के बीए अलवारिस ने कहा कि 24 दिसंबर को रात 12 बजे प्रभु यीशु का जन्मोत्सव मनाया जाएगा। इसके पूर्व आने वाले चार रविवार को आगमन का रविवार कहा जाता है। इस वर्ष 1 दिसंबर, 8 दिसंबर, 15 दिसंबर और 22 दिसंबर को चार रविवार होंगे। पहले रविवार पर 3 बैंगनी 1 गुलाबी, 1 सफेद रंग की कुल पांच मोमबत्तियां रखी जाएंगी। यह पांचों आशा, विश्वास, खुशी, शांति और ख्रीस्त के प्रतीक की मोमबत्तियां हैं। इस मौके पर रेड चर्च में सुबह 7 बजे पहली मिस्सा और सुबह 8.30 बजे दूसरी मिस्सा शुरू होगी।

पॉप फ्रांसिस ने कहा पौधे देने के लिए

समाजजन के अनुसार पॉप फ्रांसिस ने अपने नवीनतम दस्तावेज में कहा कि हमें संसार को प्रदूषण मुक्त करना है। प्लास्टिक का उपयोग नहीं करना है। ज्यादा से ज्यादा पौधे वितरित करना है और पर्यावरण को बचाना है।

Posted By: Nai Dunia News Network