- प्राध्यापक संघ ने यूजीसी को लिखी चिट्ठी

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना संक्रमण के बीच विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के परीक्षा करवाने के फैसले का विरोध शुरू हो गया है। पहले छात्र संगठन-निजी कॉलेज के प्राचार्य संघ के बाद अब सरकारी कॉलेज के प्राध्यापकों ने भी परीक्षा करवाने का विरोध शुरू कर दिया है। प्राध्यापक संघ ने यूजीसी को पत्र लिखकर फैसले पर दोबारा विचार करने पर जोर दिया है। संघ का कहना है कि संक्रमण कम था तब परीक्षाएं आगे बढ़ाई थीं, लेकिन अब संक्रमण फिर से बढ़ रहा है। ऐसे में परीक्षा करवाने की जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए। बेहतर यह होगा कि यूजी-पीजी फाइनल ईयर व सेमेस्टर में जनरल प्रमोशन दिया जाए।

राज्य शासन ने यूजी-पीजी कोर्स में जनरल प्रमोशन देने का फैसला लिया है। इसकी गाइडलाइन आनी बाकी है। इस बीच यूजीसी के परीक्षा करवाने के फरमान ने मुश्किलें बढ़ा दी हैं। यूजीसी ने सितंबर अंतिम सप्ताह तक परीक्षा करवाने को कहा है। बताया जाता है कि इस फैसले को लेकर विवि प्रशासन की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। मगर युवक कांग्रेस और अशासकीय महाविद्यालय प्राचार्य संघ के बाद अब प्रांतीय शासकीय महाविद्यालय संघ ने भी यूजीसी के अध्यक्ष डॉ. डीपी सिंह को पत्र लिखा है। संघ ने इंदौर संभाग में कोरोना को लेकर स्थिति की जानकारी दी है। यहां तक उन्होंने राज्य शासन के जनरल प्रमोशन के बारे में भी जिक्र किया है। पदाधिकारियों का कहना है कि जुलाई-अगस्त में कोरोना का पीक आने का बताया जा रहा है। ऐसे में परीक्षा करवाना संभव नहीं है। संघ के प्रातांध्यक्ष डॉ. कैलाश त्यागी ने बताया कि परीक्षा को लेकर सरकार को जल्द ही अपना फैसला बताना चाहिए। यहां तक बढ़ते संक्रमण के बीच परीक्षा विद्यार्थियों के लिए जानलेवा साबित हो सकती है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020