इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। नगर निगम के कई अफसरों का तबादला बीते दिनों हुआ है, लेकिन उनमें से कुछ को अब तक इंदौर नगर निगम ने रिलीव नहीं किया है।इस संबंध में निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने साफ किया है कि ज्यादातर अधिकारियों को रिलीव कर दिया है, लेकिन वे अधिकारी जो कोरोना मैनेजमेंट में अहम भूमिका निभा रहे हैं, उन्हें रिलीव नहीं किया गया है। जैसे ही स्थिति सामान्य होगी, अफसरों को रिलीव करेंगे।

गुरुवार को आयुक्त ने इंजीनियर कमलसिंह को रिलीव कर उन्हें इंदौर विकास प्राधिकरण में जाइन करने के निर्देश दिए थे। अभी निगम की उपायुक्त लता अग्रवाल, मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी डा. अखिलेश उपाध्याय और इंदौर स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कंपनी लि. के अधीक्षण यंत्री डीआर लोधी का तबादला होने के बावजूद उन्हें रिलीव नहीं किया गया है। इन्हीं तीनों अफसरों को रिलीव नहीं करने के पीछे आयुक्त उनके कोविड मैनेजमेंट कार्य में संलग्न होने का हवाला दे रही हैं।

सिन्हा का भी तबादला

निगम में उपायुक्त के रूप में पदस्थ एसके सिन्हा का तबादला भी सरकार ने गुरुवार को उज्जैन कर दिया। उन्हें उज्जैन संभाग में नगरीय प्रशासन और विकास विभाग के संयुक्त संचालक के रूप में पदस्थ किया गया है। इंदौर में निगमायुक्त रहे आशीष सिंह से मनमुटाव के बाद पिछले साल भी सरकार ने उनका तबादला अनूपपुर कर दिया था, लेकिन पहले वे उज्जैन और फिर इंदौर में पदस्थ हो गए। उनके साथ अपर आयुक्त अभय राजनगांवकर को भी अस्थायी रूप से संयुक्त संचालक का प्रभार दिया गया है, लेकिन उनकी वर्तमान पदस्थापना इंदौर नगर निगम में बतौर अपर आयुक्त के रूप में ही की गई है।

Posted By: gajendra.nagar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags