इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि, Oilseeds Indore। देश के करीब 20 राज्यों ने तो तेल-तिलहन पर स्टाक लिमिट का निर्धारण कर रिपोर्ट केंद्र को भेज दी है। महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश, गुजरात, छत्तीसगढ़, दिल्ली जैसे तमाम राज्य इसमें शामिल है। मप्र, केरल, बंगाल के साथ उत्तर पूर्व के राज्यों ने स्टाक लिमिट लगाने पर रुचि नहीं दिखाई है। हालांकि फिर भी बाजार में चर्चा है कि जल्द शेष राज्य भी लागू कर देंगे। ऐसे में घबराये व्यापारी बड़े सौदे करने से बच रहे हैं।

देशभर में सोयाबीन की आवक मंगलवार को बढ़कर करीब 9 लाख 45 हजार बोरी तक पहुंच गई। मप्र में कुल आवक करीब 5 लाख बोरी बताई जा रही है। इंदौर की छावनी मंडी में करीब 5000, लक्ष्मीबाई मंडी में भी 5000 रही। देवास में 8000, नीमच में 7000, खंडवा में 8000 रही। आसपास के शहरों की मंडियों में भी आवक का अनुपात 5000 से 8000 के बीच है। सोयाबीन प्लांटों ने अभी क्रशिंग शुरू नहीं की है। ज्यादतर रिफाइनरी अभी डीगम से ही चल रही हैं। दिवाली बाद ही अब क्रशिंग शुरू होने की उम्मीद है। हालांकि इस साल डीओसी की विदेशों में मांग और नए सौदों को लेकर संशय बना हुआ है। भारतीय डीओसी अब अंतरराष्ट्रीय कीमतों से मेल नहीं बैठा पा रही है।

विदेश में पाम तेल में तेजी दिख रही है। कांडला पोर्ट पर सोया रिफाइंड 20 रुपये मजबूत है। कांडला सोया 1290 बताया गया। सूरजमुखी और कपास्या तेल की कीमतें पोर्ट पर स्थिर रही। विदेशी तेजी से हाजर बाजार में तेल मजबूत है। इस बीच सरकार ने खाद्य तेलों के नियंत्रण के लिए बैठक की है। बैठक में 23 राज्यों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। इसे खाद्य तेल की कीमतों पर स्टॉक लिमिट आर्डर पर की गई कार्रवाई की समीक्षा के लिए बुलाया गया था। खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग (डीएफपीडी) द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, राजस्थान, गुजरात और हरियाणा ने पहले ही प्रस्ताव जमा कर दिया है और स्टॉक सीमा जल्द ही लागू होने की उम्मीद है।

डीएफपीडी खाद्य तेलों की कीमतों और उपभोक्ताओं को इसकी उपलब्धता की बारीकी से निगरानी कर रहा है। त्योहारों में मांग अपेक्षानुरूप नहीं है। व्यापारी मंदी की घबराहट में कम खरीदी कर रहे हैं। हालांकि विदेशी बाजारों को देखकर लग नहीं कि स्थानीय बाजारों में तेल के दाम बहुत ज्यादा टूटेंगे। सरकार तेजी आने नहीं देगी और विदेशी बाजार दाम को बहुत ज्यादा गिरने नहीं देंगे। लिहाजा अब तेल सीमित दायरे में काम करता रहेंगा। मंगलवार को सोया तेल इंदौर 1290 रुपये प्रति दस किलो बोला गया। वहीं मूंगफली तेल में लेवाली कमजोर होने से भाव में 20 रुपये की मंदी रही। मूंगफली तेल इंदौर घटकर 1440-1460 रुपये प्रति दस किलो रह गया।

Posted By: gajendra.nagar

NaiDunia Local
NaiDunia Local