इंदाैर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी ने ब्राजील में बधिर ओलिंपिक में शामिल भारतीय खिलाडि़याें से शनिवार काे दिल्ली में मुलाकात कर उनका हाैसला बढ़ाया। इस दल में इंदाैर के पहलवान राज वर्मा अैार भारतीय टीम के आधिकारिक अनुवादक गाैरव वर्मा भी थे। रात काे जब शहर के ये गाैरव इंदाैर पहुंचे ताे इनकी अगवानी काे न ताे प्रशासन का काेई अधिकारी आया और न ही कुश्ती संगठन के किसी चेहरे ने सुध ली। एक तरफ शहर में गाैरव दिवस मनाने की तैयारी जाेरशाेर से चल रही है वहीं दूसरी तरफ शहर के असली गाैरव की ऐसी अनदेखी चौंकाने वाली है।

बधिर ओलिंपिक हाल ही में ब्राजील में समाप्त हुए। पहलवान राज इंदाैर के शिवाजी नगर की गरीब बस्ती में रहते हैं। माता–पिता का साया सालाें पहले सिर से उठ गया था। छाेटा भाई भी बाेल नहीं सकता जबकि बड़ा भाई रिषभ आठ हजार रुपये महीने की नाैकरी से दाेनाें भाइयाे की देखरेख करता है। राज भारतीय कुश्ती टीम में मप्र से एकमात्र पहलवान थे। वे पदक नहीं जीत सके। अनुवादक गाैरव ने बताया कि राज की टक्कर बेहद अनुभवी पहलवान से थी। हमारी अगवानी काे प्रशासन या कुश्ती संघ से काेई नहीं आया। यह निराशाजनक है। राज भले ही पदक न जीत सके, लेकिन अब बधिर कुश्ती में वे विश्व में पांचवें नंबर के पहलवान हैं। प्रधानमंत्री से मुलाकात के दाैरान इंदाैर से डा. उषा पंजाबी (अभा बधिर क्रीड़ा परिषद की अध्यक्ष) और राजकुमार पंजाबी भी माैजूद थे।

तहसीलदारों और नायब तहसीलदारों के तबादले

इंदौर। लंबे समय से एक ही तहसील में नियुक्त तहसीलदारों और नायब तहसीलदारों को कलेक्टर मनीष सिंह ने जिले में इधर से उधर किया है। तहसीलदार पल्लवी पुराणिक को खुड़ैल तहसील से शिप्रा भेजा गया है तो शिप्रा से तहसीलदार ब्रह्मस्वरूप श्रीवास्तव को खुड़ैल लाया गया है। इसी तरह नायब तहसीलदार राकेशसिंह चौहान को सांवेर से हातोद भेजा गया है और नायब तहसीलदार जयेश प्रतापसिंह को हातोद से सांवेर लाया गया है। इसके साथ ही कनाड़िया तहसीलदार एचएस विश्वकर्मा को देपालपुर तहसील का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close