इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। केंद्र से 19 जनवरी को आए नए निर्देश के बाद देवी अहिल्याबाई होलकर अंतरराष्ट्रीय विमानतल पर 'एक यात्री एक हैंड बैग" नियम सख्ती से लागू कर दिया गया है। दरअसल सुरक्षा क्षेत्र में जाने के पहले होने वाली स्क्रीनिंग में लगने वाले समय को कम करने के लिए नई व्यवस्था सख्ती से लागू की गई है। इस कारण उन यात्रियों की परेशानी बढ़ गई है, जो विमान में अपने साथ ले जाने के लिए दो से तीन बैग लेकर पहुंच रहे थे। अब ऐसे लोग सुरक्षा जांच क्षेत्र से नीचे आकर वापस चेक इन लगेज में अपना बैग जमा कराने का प्रयास करते हैं, लेकिन एयरलाइंस कर्मचारी उनका सामान लेने से मना कर देते हैं। लंबी जद्दोजहद के बाद सामान लिया जाता है।

उल्लेखनीय है कि गाइडलाइन के अनुसार यात्री अपने मुख्य लगेज में 15 किलो तक का बैग दे सकते हैं। इसे चेक इन लगेज भी कहा जाता है। यह उन्हें दूसरे विमानतल पर कन्वेयर बेल्ट पर मिल जाता है। इसके अलावा यात्री सात किलो तक का केबिन लगेज भी अपने साथ ले जा सकते हैं। इसमें एक हैंड बैग ही अब ले जा सकेंगे। ट्रैवल एजेंट एसोसिएशन आफ इंडिया के प्रदेश अध्यक्ष हेमेंद्र सिंह जादौन ने बताया कि इस सुविधा का यात्री गलत लाभ उठाते हैं और कई लोग अपने साथ दो से तीन बैग विमान में ले जाते थे। इससे विमान में जगह की कमी होती थी। वहीं सुरक्षा जांच में भी समय लगता है, जिससे परेशानी होती है। प्रबंधन के अनुसार के नए आदेश में कहा गया है कि सुरक्षा जांच में लगने वाले समय को देखते हुए इसे सख्ती से लागू किया जाए। एयरलाइंस बोर्डिंग पास पर भी इसका उल्लेख करें। वहीं बैनर होर्डिंग लगा कर भी इसका प्रचार किया जाए कि हर यात्री एक हैंड बैग ही ले जा सकेगा।

इसकी रहेगी अनुमति - सात किलो तक का एक बैग, एक लैपटाप, महिलाओं का पर्स, पढ़ने के लिए पुस्तक या अखबार और ड्यूटी फ्री शॉप से खरीदा गया सामान।

हाई अलर्ट पर एयरपोर्ट - इधर गणतंत्र दिवस के कारण एयरपोर्ट पर हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। इसमें यात्रियों की गहन जांच के साथ-साथ स्टाफ की जांच के लिए भी कहा गया है। वहीं टर्मिनल के बाहर भी अनावश्यक खड़े रहने पर रोक लगा दी गई है। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों एयरपोर्ट से विमान के अपहरण की धमकी भी मिली थी। हालांकि आरोपित को राजगढ़ के पास से हिरासत में लिया गया था।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local