इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि) JEE Exam Indore। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) सहित देशभर के उच्च तकनीकी संस्थानों में प्रवेश के लिए जाइंट एंट्रेंस एक्जामिनेशन (जेईई) मंगलवार से शुरू हुई। शहर के तीन केंद्रों पर दोपहर तीन से छह बजे तक परीक्षा आयोजित की गई। पहले दिन बैचलर आफ आर्किटेक्चर और बैचलर आफ प्लानिंग कोर्स में प्रवेश के लिए करीब एक हजार विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। देवास नाका स्थित आइओएन डिजिटल परीक्षा केंद्र पर कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करवाया। यहां परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई और उन्हें सैनिटाइज करवाया। उधर विद्यार्थियों को पेपर में गणित के सवालों ने थोड़ा मुश्किल में जरूर डाला है।

एक घंटा देरी से पहुंचे विद्यार्थी

दोपहर की शिफ्ट में होने वाली परीक्षा के लिए दोपहर डेढ़ बजे विद्यार्थियों को केंद्र पर रिपोर्टिंग करनी थी। पहले विद्यार्थियों को एक कतार में लगाया गया। बार-बार अनाउंसमेंट किया गया कि विद्यार्थी शारीरिक दूरी का पालन करें और मास्क अनिवार्य रूप से लगाए रखें। एक-एक विद्यार्थियों के एडमिट कार्ड और पहचान पत्र का मिलान भी किया गया। कुछ विद्यार्थी अपने साथ बैग लेकर भी पहुंच गए जिन्हें परीक्षा हाल के बाहर रखवाया। केंद्र का पता नहीं मिलने से काफी विद्यार्थी लेट हो गए। वे दोपहर 2 बजकर 40 मिनट पर आए। उन्हें भी परीक्षा के लिए अनुमति दे दी। पारुल के माता-पिता ने बताया कि एडमिट कार्ड पर केंद्र का पता दर्शाया, लेकिन हम लोग काफी आगे निकल चुके थे। इस वजह से निर्धारित समय तक नहीं पहुंच पाए।

विद्यार्थियों में डर

झाबुआ से परीक्षा देने आए सोमेश गुप्ता ने कहा ‍कि फिर से कोरोना संक्रमण बढ़ गया है। उसे लेकर थोड़ी चिंता जरूर है। मगर केंद्र के अंदर निश्चित दूरी पर विद्यार्थियों को बैठाया गया। एलआइजी निवासी जागृति शर्मा ने कहा जेईई मेन अब साल में चार बार होगी इसलिए डर नहीं है कि पहली बार में सफल होंगे या नहीं। परीक्षा की तैयारी के साथ 12वीं की पढ़ाई पर भी बराबर ध्यान दिया है।

गणित के सवालों ने उलझाया

परीक्षा के जानकार विजित जैन का कहना है बैचलर आफ आर्किटेक्चर और बैचलर इन प्लानिंग कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा हुई है। सामान्यत: इसे जेईई का सेकंड पेपर कहा जाता है। वैसे ये दोनों विषय एनआइटी में संचालित होते हैं। बेहद कम विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए थे। उन्होंने बताया कि परीक्षा में गणित, सामान्य ज्ञान और ड्राइंग से संबंधित प्रश्न पूछे गए। ज्यादातर विद्यार्थी गणित के सवालों में थोड़ा उलझे, हालांकि पेपर ज्यादा कठिन नहीं था।

आज तीन केंद्र पर दस हजार विद्यार्थी

23 से 26 फरवरी के बीच जेईई मेन आयोजित हो रही है। बुधवार से आइआइटी से संचालित बीई कोर्स में प्रवेश के लिए परीक्षा होगी। तीन केंद्र पर दो सत्र में परीक्षा होगी, जो सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक और दोपहर 3 से शाम 6 बजे के बीच होगी। इनमें 10 हजार से ज्यादा विद्याथी शामिल होंगे। पेपर में 90 सवाल पूछे जाएंगे, जिसमें 75 प्रश्नों के उत्तर देना अनिवार्य है।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local