इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोविड संक्रमित मरीजों की संख्या कम होने के बावजूद भी अभी तक ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या में पूरी तरह कमी नहीं आई है। एमवाय अस्पताल में फिलहाल ब्लैक फंगस के 11 मरीज भर्ती हैं। एमवायएच में ब्लैक फंगस के उपचार के लिए भर्ती हुए 966 मरीजों की सर्जरी हुई है। इसके अलावा 1728 मरीजों कीएंडोस्कोपी हो चुकी है। अस्पताल से अभी तक 721 मरीज इस बीमारी से स्वस्थ होकर अपने घरों को लौट चुके हैं। इसके अलावा अस्पताल में ब्लैक फंगस के उपचार के लिए भर्ती रहे 65 मरीजों की अब तक मौत हुई है।

संभावना जताई जा रही थी कि कोविड संक्रमितों की संख्या कम होने के कारण धीरे-धीरे ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या पूरी तरह खत्म हो जाएगी। गौरतलब है कि पूर्व में करीब पांच महीने पहले तक एमवाय अस्पताल में ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या काफी ज्यादा थी, उस समय अस्पताल में 500 से ज्यादा मरीज भर्ती हुए थे। स्थिति यह थी कि निजी अस्पतालों में तो मरीजों के लिए बेड भी उपलब्ध नहीं हो पा रहे थे। इसके अलावा ब्लैक फंगस के मरीजों के उपचार के लिए एंटी फंगल इंजेक्शन भी आसानी से नहीं मिल रहा था। दवा बाजार में इंजेक्शन के लिए मरीज के स्वजन की लंबी कतारें तक लगी थीं।

हालांकि अब यह इंजेक्शन बाजार व अस्पतालों में आसानी से उपलब्ध है। चिकित्सकों के मुताबिक कोविड संक्रमण से पूर्व सालभर में ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या इक्का-दुक्का दिखाई देती थी। कोविड संक्रमण बढ़ने के बाद ही मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हुई थी हालांकि अब कम संख्या में मरीज मिल रहे हैं।

Posted By: gajendra.nagar

NaiDunia Local
NaiDunia Local