इंदौर। नईदुनिया प्रतिनिधि। ऑन लाइन जहर सप्लाय के आरोपों में फंसी ई-कॉमर्स बेव साइट अमेजन पर सरकार सख्त हो गई है। गुरुवार को प्रदेश के गृहमंत्री डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने कंपनी पर केस दर्ज करने के आदेश दे दिए। गृहमंत्री ने अफसरों से कहा कि कंपनी के अधिकारियों को पुलिस के तरिके से तलब करें।

लोधा कॉलोनी(छत्रीपुरा) निवासी 18 वर्षीय आदित्य ने इसी वर्ष जुलाई में जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी। पिता रणजीत वर्मा का आरोप है कि आदित्य ने ई-कॉमर्स वेब साइट अमेजन से ऑन लाइन जहर मंगवाया था। गुरुवार को रणजीत ने गृहमंत्री से शिकायत कर कंपनी पर कार्रवाई की मांग की।

वर्मा ने कहा कि आदित्य दुकान से जहर खरीदता तो शायद आसानी से नहीं मिलता और उसकी जान बच जाती। कंपनी ने जहर की होम डिलीवरी कर दी और आदित्य ने खुदकुशी कर ली। गृहमंत्री अफसरों से कहा कि जहर सप्लाय गंभीर मसला है। कंपनी के विरुद्ध कार्रवाई करें।कंपनी के अफसरों को नोटिस जारी कर बुलाएं। बयान न देने पर पुलिस अपने तरीके से तलब करें।

उन्होंने यह भी कहा ई-कॉमर्स वेब साइट ऑन लाइन हथियार, जहर व गांजा सप्लाय में लिप्त है। उसके लिए सरकार निती भी तैयार कर रही है।एएसपी(पश्चिम-1) राजेश व्यास के मुताबिक कंपनी के मुख्यालय(बैंगलुरु) नोटिस जारी किया है। कंपनी के पास जहरीले पदार्थ सप्लाय की पात्रता है या नहीं इसकी जानकारी मांगी है। कंपनी खरीदने और बेचने के लिए अधिकृत है लेकिन उसे किस शर्तों में अनुमति मिली यह जानकारी भी मांगी है। कृषि विभाग को भी पत्र लिख कर पूछा है कि क्या कंपनी उक्त जहरीले पदार्थ(कीट नाशक) ऑन लाइन सप्लाय कर सकती है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local