इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Indore News । अनाज मंडी उद्योगनगर स्थित नशा मुक्ति केंद्र की बाथरूम में 25 वर्षीय नरेन्द्र पुत्र बटानू चौरसिया ने मंगलवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। रावजी बाजार थाना पुलिस ने मर्ग कायम कर मामला जांच में लिया है।

पुलिस ने बताया कि नरेन्द्र मूलत: पन्ना जिला के गांव मोहन्द्रा का रहने वाला है। गांव में वह पंचायत में सचिव का काम देखता था, साथ ही प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी भी कर रहा था। इसी बीच व नशे की लत में पड़ गया। इसके बाद स्वजन नरेन्द्र को यहां ले आए। नशा मुक्ति केन्द्र में करीब 35 लोग भर्ती हैं। यहां सुबह सभी के नाश्ता करने के बाद वह बाथरूम में गया और उसने फांसी लगा ली। बुधवार को पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजनों को सौंप दिया है, उसका अंतिम संस्कार पुश्तैनी गांव में किया जाएगा।

इंजीनियर की नवविवाहिता पत्नी ने फांसी लगाई

गणेश नगर निवासी 23 वर्षीय नैनसी पत्नी विजय वर्मा ने फांसी लगा ली। वह पति के साथ किराये के मकान में रहती थी। पति साफ्टवेयर कंपनी में इंजीनियर है। मंगलवार शाम जब वह घर आया, तो नैनसी ने दरवाजा नहीं खोला। खिड़की से झांका, तो वह फंदे पर लटकी थी। खजराना टीआइ दिनेश वर्मा ने बताया कि नैनसी की तीन माह पहले शादी हुई थी। पति होशंगाबाद के पिपरिया गांव का रहने वाला है और इंदौर में नौकरी करता है। शादी के बाद से नैनसी पिपरिया में ही थी। तीन दिन पहले सोमवार को इंदौर आई थी। पुलिस ने दंपती में कहासुनी की आशंका जताई है।

चौकीदार ने फांसी लगाकर आत्महत्या की

गुलाब बाग निवासी 37 वर्षीय जितेंद्र उर्फ जीतू पुत्र कैलाश पटवारी ने बुधवार सुबह फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। लसूड़िया थाना पुलिस को सूचना मिली तो मौके पर पहुंची। पुलिस ने बताया कि जितेंद्र मूल रूप से रतलाम के ग्राम धनतोरिया का रहने वाला था और यहां चौकीदारी करता था।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local