इंदौर, नईदुनिया रिपोर्टर। स्मार्टफोन के साथ अब फेसबुक और टि्वटर के दौर में यूजर को सोशल मीडिया से दूर करना थोड़ा मुश्किल है। वॉट्सएप और वी चैट मैसेंजर के दौर में साइबर बुलिंग अब एक नया रूप लेती जा रही है। अब वॉट्सएप और दूसरे मैंसेजर में बन रहे ग्रुप भी साइबर बुलिंग को बढ़ावा दे रहे हैं।

सबसे ज्यादा युवा दोस्ती टूटने और लोगों के अलग-अलग कमेंट्स के कारण टेंशन में आ रहे हैं। एक सर्वे के मुताबिक आज देश में 70 प्रतिशत अभिभावक बच्चों और युवाओं को नॉलेज बेहतर करने के लिए सोशल मीडिया और इंटरनेट इस्तेमाल करने की इजाजत देते हैं। इसमें 58 प्रतिशत से ज्यादा बच्चे अभिभावकों के साथ हर जानकारी छुपाते हैं। जानकारी छिपाने के फेर में वे बिन बुलाए परेशानी में घिर जाते हैं।

बुलिंग का कितना असर

- सोशल मीडिया पर अभद्र कमेंट्स या किसी भी व्यक्ति के बारे में मनमर्जी से लिखना साइबर बुलिंग की श्रेणी में आता है।

- यह एक तरह की ऑनलाइन रैगिंग या शोषण है।

- 92 प्रतिशत फेसबुक साइबर बुलिंग 23.8 प्रतिशत से होते हैं शिकार 75 प्रतिशत अभिभावकों को साइबर बुलिंग की जानकारी ही नहीं।

- 43 प्रतिशत से ज्यादा यूजर साइबर बुलिंग के शिकार। 25 प्रतिशत टेक्स्ट मैसेजिंग से करते हैं परेशान।

पैरेंट्स को जानकारी ही नहीं

आज सोशल मीडिया और मैसेंजर से हर उम्र के यूजर जुड़े हुए हैं। ऐसे समय में साइबर क्राइम को रोकने के लिए भले ही कोई सख्त कानून न हो, लेकिन इसे बढ़ावा देने वाले प्लेटफॉर्म कई हैं। साइबर बुलिंग एक तरह की ऑनलाइन रैगिंग है। इसके शिकार सबसे ज्यादा युवा और बच्चे हो रहे हैं। आज 10 में से 6 स्टूडेंट साइबर बुलिंग के शिकार हैं। स्कूल और अभिभावकों को इस बारे में कोई जानकारी ही नहीं है। इंदौर, दिल्ली और मुंबई जैसे कई शहरों में साइबर बुलिंग के शिकार युवा बढ़ी तादाद में हैं। अब वॉट्सएप और वी चैट जैसे मैसेंजर ने इस समस्या को और बढ़ावा दिया है। किसी का भी यदि कोई मजाक बना दे या कुछ लिख दे तो चंद मिनट में वह पूरी दुनिया में फैल जाता है। - यशदीप चतुर्वेदी साइबर एक्सपर्ट

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020