इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि), Indore Corona News। कोरोना का दंश झेल रहे इंदौरियों के लिए चिंता की बात है कि ज्यादातर संक्रमण वे लोग फैला रहे हैं जिनमें कोरोना का कोई लक्षण ही नहीं होता। लक्षण नहीं आने की वजह से इन लोगों को पता ही नहीं चलता कि वे कोविड-19 की चपेट में आ चुके हैं। वे लापरवाह हो जाते हैं और जाने अनजाने ही संक्रमण वाहक बन जाते हैं। जरूरी है कि आप जब भी किसी से मिले या बात करें तो मास्क पहने और शारीरिक दूरी के नियम का पालन करें। आइसीएमआर भी मानता है कि 80 प्रतिशत कोरोना संक्रमित ऐसे होते हैं जिनमें बीमारी का कोई बगैर ही नजर नहीं आता। ऐसे में इनकी पहचान करना बहुत मुश्किल है। जांच करने पर ही पता चल सकता है कि ये संक्रमित हैं, लेकिन लक्षण नहीं होने से ये लोग जांच भी नहीं करवाते।

शहर में दीपावली के बाद से कोरोना के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। कुल संक्रमितों का आंकड़ा 38 हजार के करीब पहुंच गया है। डॉक्टर भी कह रहे हैं कि मास्क पहनना और शारीरिक दूरी के नियम का पालन करना जरूरी है बावजूद इसके हालात नहीं सुधर रहे। डॉक्टरों का कहना है कि संक्रमण फैलने की एक बड़ी वजह पॉजिटिव मरीजों में बड़ी संख्या असेंटेमेटिक मरीजों की होना है। ये होते तो पॉजिटिव हैं लेकिन इनमें कोई लक्षण नहीं होते। न इन्हें बुखार आता है न सर्दी-जुकाम-खांसी जैसा कोई लक्षण होता है। इन लोगों को न सांस लेने में दिक्कत आती है न घबराहट होती है। यही वजह है कि ये लोग संक्रमण को लेकर लापरवाह हो जाते हैं। कई बार ये लोग बगैर मास्क और शारीरिक दूरी के नियम का पालन करे मिलते-जुलते हैं और कई लोगों को संक्रमित कर चुके होते हैं।

10 दिन तक फैला सकते हैं संक्रमण

डॉक्टरों के मुताबिक सामान्यत: कोविड-19 वायरस शरीर में 10 दिन तक सक्रिय रहता है। यही वजह है कि एक संक्रमित व्यक्ति के संक्रमित होने के 10 दिन बाद तक इस बात की आशंका रहती है कि उसके संपर्क में आने वाले लोग संक्रमित हो सकते हैं। असेंटेेमेटिक मरीज सामान्य नजर आते हैं लेकिन संक्रमण फैला सकते हैं। यानी कोई व्यक्ति भले ही स्वस्थ्य नजर आ रहा हो लेकिन इस बात की आंशका से इंकार नहीं किया जा सकता कि वह संक्रमण वाहक हो। जरूरी है कि आप घर से बाहर निकलते वक्त मास्क अवश्य पहनें और शारीरिक दूरी के नियम का पालन करें।

फैला सकते हैं संक्रमण

असेंटेमेटिक मरीज भी कोरोना फैला सकते हैं। इन लोगों की पहचान बहुत ही मुश्किल है। बगैर जांच बता पाना संभव नहीं की कौन संक्रमित है और कौन नहीं। जरूरी है कि हर व्यक्ति मास्क पहने और शारीरिक दूरी के नियम का पालन करे।

- डॉ. हेमंत जैन, चीफ कोआर्डिनेटर होम आइसोलेशन टीम

व्यक्ति को खुद ही रखना होगा अपना ध्यान

हर व्यक्ति के लिए जरूरी है कि वह अपना खुद का ध्यान खुद रखे। स्वस्थ्य नजर आने वाला व्यक्ति भी संक्रमित हो सकता है, इसलिए हमेशा मास्क पहनें और लोगों से मिलने जुलने से परहेज करें।

- डॉ. प्रवीण जडिया, सीएमएचओ इंदौर

Posted By: sameer.deshpande@naidunia.com

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस