इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। प्रवासी भारतीय सम्मेलन के पहले इंदौर की सड़कों को सजाने व संवारने का काम जनभागीदारी से किया जाएगा। नगर निगम द्वारा इंदौर की रिंग रोड, एमजी रोड, वीआइपी रोड और आदर्श रोड जैसी प्रमुख सड़कों के करीब 20 हिस्सों की जिम्मेदारी शहर के नागरिकों को सामूहिक स्तर पर दी जाएगी। ये समूह न सिर्फ सड़कों के सौंदर्यीकरण व संवर्धन के लिए काम करेंगे, बल्कि यदि सड़कों पर गड्ढे, जलजमाव, उचित संकेतक न होने, ड्रेनेज , पेयजल, फव्वारे, स्ट्रीट लाइट या अन्य कोई समस्या हाेगी तो उससे निगम के अफसरों को अवगत करवाएंगे। निगम इस संबंध में शहरवासियों के लिए ‘रंग दे इंदौर’ प्रतियोगिता भी आयोजित कर रहा है।

‘रंग दे इंदौर’ प्रतियोगिता में निजी व सरकारी संस्थान, छात्र, सहकारी समितियां , स्वयं सहायता समूह शामिल हो सकेंगे। कार्यों के आकलन के लिए बनी कमेटी समूहों द्वारा किए गए कार्यों का आकलन कर उन्हें 30 प्रतिशत अंक देगी। शेष 70 प्रतिशत अंक उस रोड से गुजरने वाले लोगों, रहवासी व व्यापारिक क्षेत्र के लोगों के फीडबैक के आधार पर दिए जाएंगे। इस प्रतियोगिता में तीन विजेताओं को निगम द्वारा 50-50 हजार रुपये की राशि पुरस्कार के रूप में दी जाएगी। शहरवासी 26 नवंबर तक संबंधित लिंक से प्रतियोगिता के फार्म को डाउनलोड कर जमा कर सकेंगे। इस प्रतियोगिता के परिणाम एक फरवरी को जारी किए जाएंगे।

इन कार्यों के लिए निगम करेगा खर्च, मैनेजमेंट रहेगा जनता के हाथ

नगर निगम ने इस योजना के तहत सड़कों के सुंदरीकरण व रखरखाव के लिए 15 लाख रुपये का बजट रखा गया है। इसके सीएसआर के फंड का उपयोग भी किया जाएगा। सड़कों के 20 हिस्सों की जिम्मेदारी लेने वाले संगठन जो कार्य करवाना चाहेंगे, वो इस राशि को खर्च किया जाएगा। इसमें सिर्फ समूह व संगठन के लोगों को अपने आइडिया का उपयोग कर वहां पर सुंदरता वाले कार्य करवाना होंगे। इसके अलावा से समूह उस रोड पर मौजूद निजी व व्यवासिय इमारतों में रहने व कार्य करने वाले लोगों के माध्यम से इमारतों पर प्रवासी भारतीय दिवस के पहले विद्युत रोशनी भी करवाएंगे।

प्रतियोगिता के लिए ये काम करने होंगे -

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close