इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि), Chhath Puja Indore 2020। अहिल्या की नगरी में बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े लोक आस्था के पर्व छठ का उल्लास शुक्रवार को नजर आया। निर्जरा व्रत रखकर डूबते सूरज को अर्घ्य देकर जीवन में संपन्नता मांगी। हालांकि इस बार कोरोना संक्रमण के चलते पर्व के स्वरूप में बदल नजर आया। अधिकांश व्रतधारियों ने घर में अस्थाई रूप से बनाए जलकुंड में अस्त होते सूर्य को अर्घ्य दिया।

इसके साथ ही पारंपरिक वेषभूषा में सजधजकर छठ मईया का पूजन किया गया। कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की षष्ठी के दिन ठंडे जल में खड़े रहकर जल के लौटे में थोड़ा सा दूध डालकर अर्घ्य दिया। इसके साथ ही बांस की टोकरी में फल, ठेकुवा आदि सजाकर सूर्य की उपासना की। विजय नगर, स्कीम नंबर 78, बाणगंगा, निपानिया, सुंदर नगर में बड़ी संख्या में व्रतधारियों ने सूर्य की उपासना घर में रहकर की। हालांकि पिपलियाहाना, सिलिकॉन सिटी, एरोड्रम रोड, तुलसी नगर में सूर्य को अर्घ्य देने के लिए कृत्रिम जलकुंड भी बनाए गए थे। शहर का सबसे बड़ा छठ पूजन का आयोजन स्थल विजय नगर इस बार कोरोना के चलते सूना रहा।

आज होगा 36 घंटे के निर्जरा व्रत के साथ पर्व का समापन

चार दिनी छठ पर्व का समापन कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि शनिवार को होगा। शनिवार उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ छठ का पारणा होगा। इसके साथ ही 36 घंटे का निर्जरा उपवास भी पूरा होगा। शुक्रवार की तरह ही अधिकांश व्रतधारी घर पर ही शनिवार को उगते सूरज को अर्घ्य देंगे।

व्रतधारी ने कहा आती है जीवन में यश-कीर्ति और वैभव, पूरी होती मनोकामना

व्रतधारी कुसुम सिंह ने कहा कि सूर्यदेव और छठ माता के बीच भाई-बहन का नाता है। इसके चलते छठ पूजा में सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है। छठ मैय्या ब्रह्माजी की मानस पुत्री है। व्रतधारी अलका सिंह का कहना है कि अस्तगामी सूर्य को अर्घ्य देने से पुण्य फल की प्राप्ति होती है। जीवन से रोग-शोक-ताप का नाश होता है। व्रतधारी तमन्ना सोनी उगते सूर्य को हमेशा अर्घ्य देती हैं लेकिन ढलते सूरज को छठ के मौके पर अर्घ्य दिया जाता है। सुबह सूर्य उपासना स्वास्थ्य के लिए, दोपहर यश-कीर्ति और शाम को अर्घ्य जीवन में संपन्नता के लिए दिया जाता है। पूजन से मनोकामना पूरी होती है।

Posted By: sameer.deshpande@naidunia.com

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस