- हाई कोर्ट ने पति को 10 नवंबर तक पक्ष रखने का दिया आदेश

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सोमवार को छुट्टी के बावजूद हाई कोर्ट में एक बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर सुनवाई हुई। इसे एक मां ने यह कहते हुए दायर किया है कि उसके ढाई साल के बेटे को पति जबरन ले गया है। वह उसे लेकर यहां-वहां घूम रहा है। उसे बेटा वापस दिलवाया जाए। कोर्ट ने पति को नोटिस जारी करते हुए 10 नवंबर तक पक्ष रखने को कहा है।

महिला ने यह याचिका एडवोकेट हिमांशु जोशी के माध्यम से दायर की है। जोशी ने बताया कि दंपती की शादी 2013 में हुई थी। उनका एक बेटा है जो वर्तमान में ढाई साल का है। कुछ समय पहले दंपती में विवाद शुरू हो गया। मामला थाने भी पहुंचा। पुलिस समझौता कराने की कोशिश कर ही रही थी कि पति बेटे को लेकर कहीं चला गया। महिला और उसके स्वजन ने तलाशने की कोशिश की लेकिन नहीं मिला। महिला को पता चला कि पति बेटे को लेकर यहां-वहां घूम रहा है। कभी बेंगलुरु चला जाता है तो कभी महाराष्ट्र। महिला ने परेशान होकर हाई कोर्ट में याचिका दायर की। सोमवार को जस्टिस शैलेंद्र शुक्ला ने तर्क सुनने के बाद पति को नोटिस जारी किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस