इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। संक्रमण की वजह से प्रदेशभर के कालेजों में नवंबर के अंतिम सप्ताह तक प्रवेश प्रक्रिया चलाई गई। यूजी फर्स्ट ईयर व पीजी फर्स्ट सेमेस्टर में विद्यार्थियों को आनलाइन व आफलाइन काउंसलिंग के लिए दाखिला दिया। प्रक्रिया में देरी होने से दिसंबर में होने वाली सेमेस्टर परीक्षाएं प्रभावित हुई है। पीजी फर्स्ट सेमेस्टर की परीक्षाएं महीनेभर आगे बढ़ाई है। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय (डीएवीवी) ने जनवरी के दूसरे सप्ताह से पेपर रखने पर जोर दिया है। अधिकारियों के मुताबिक पहले बीबीए, बीसीए तीसरे-पांचवें और पीजी तीसरे सेमेस्टर की परीक्षा करवाई जाएगी।

सरकारी और निजी कालेजों से संचालित यूजी-पीजी कोर्स में अगस्त से नवंबर के बीच 120 दिन काउंसलिंग करवाई गई। बावजूद इसके प्रदेशभर में छह लाख विद्यार्थियों को विभिन्न् कोर्स में प्रवेश मिला है। वैसे ही डीएवीवी के दायरे में आने वाले 270 कालेजों में सवा लाख छात्र-छात्राओं को दाखिला दिया है, जिसमें बीए, बीकाम, बीएससी, बीएड-बीपीएड, एलएलबी, बीकामएलएलबी, बीबीएएलएलबी, बीएएलएलबी, एमए, एमकाम, एमएससी, एमएड सहित अन्य कोर्स शामिल है। एकेडमी कैलेंडर के मुताबिक पहले-तीसरे-पांचवें सेमेस्टर की परीक्षाएं दिसंबर में होती है। मगर यूजी-पीजी पहले सेमेस्टर में प्रवेश में देरी होने से परीक्षाओं पर असर दिखने लगा है।

पिछले सत्र की तरह इस बार भी बीएड, एलएलबी, एमए, एमकाम, एमएससी फर्स्ट सेमेस्टर की परीक्षाएं जनवरी के दूसरे सप्ताह से पहले होना संभव नहीं है। इन परीक्षाओं के लिए विश्वविद्यालय में 28 नवंबर को बैठक हुई थी। जहां अधिकारियों ने यूजी तीसरे-पांचवें सेमेस्टर, पीजी पहले सेमेस्टर की परीक्षा दिसंबर-जनवरी में रखी गई है। कुछ परीक्षाओं का टाइम टेबल भी जारी कर दिया है। परीक्षा नियंत्रक डा. अशेष तिवारी का कहना है कि पहले सेमेस्टर की परीक्षाएं जनवरी के दूसरे सप्ताह बाद रखेंगे। वे बताते है कि कालेजों को जल्द कोर्स पूरा करने के लिए भी कहा गया है ताकि परीक्षाएं जनवरी के दूसरे-तीसरे सप्ताह से शुरू कर सके।

Posted By: gajendra.nagar

NaiDunia Local
NaiDunia Local