मालवा-निमाड़ (टीम नईदुनिया), Poisionus Liquor in MP। मंदसौर पुलिस ने जहरीली शराब मामले में इंदौर के तिलक नगर से मोहित यादव, सोनम और रवि नागर को गिरफ्तार किया है। मंदसौर पुलिस ने स्वीकार किया है कि अब तक आठ लोगों की मौत हो चुकी है। पहले यह संख्या सात थी। पिपलियामंडी में जहरीली शराब पीने के बाद एक महिला की भी आंखों की रोशनी चली गई है। मंदसौर के पिपलिया मंडी के पास ग्राम गुड़भेली में 24 जुलाई को ही जहरीली शराब पीने से रामप्रसाद गायरी की मौत हो गई थी। पुलिस को शराब बेचने वाले गुमटी संचालक जगदीश सैनी निवासी खात्याखेड़ी ने बताया कि गुड़भेली के रामप्रसाद गायरी को भी मैंने शराब बेची थी। इसके बाद प्रशासन ने मृतकों की संख्या आठ मान ली है। अभी तक की कुल 11 आरोपित बनाए गए हैं।

आठ की गिरफ्तारी हो चुकी है। शेष फरार तीन आरोपितों पर 10-10 हजार रुपये का इनाम भी घोषित है। पिपलियामंडी में एक महिला की भी आंखों की रोशनी चली गई है। 24 अप्रैल को उसके पड़ोसी ने पिपलियामंडी के ठेके से देशी शराब का क्वार्टर लाकर दिया था। पुलिस ने महिला के बयान लिए हैं।

खंडवा में कालका ने उगले राज

खंडवा में नकली अंग्रेजी शराब के मामले में सनावद पुलिस की हिरासत में आरोपित कालका प्रसाद और रोहित ने इंदौर के श्याम सिंह का नाम उजागर किया है। बताया जाता है कि श्याम सिंह को सनावद पुलिस ने पकड़ लिया है। कालका को श्याम सिंह ही नकली शराब बनाने की सामग्री उपलब्ध कराता था। बुरहानपुर में इंदौर शराब कांड में आरोपित से पूछताछ और होलोग्राम व बैच नंबर की जांच के बाद यह सामने आया है कि जहरीली शराब वाली बोतलें बुरहानपुर से नहीं भेजी गई थीं।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local