इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Drug Mafia Indore। मिथाइलीनडाइऑक्सी मेथैमफेटामाइन (एमडीएमए) केस में मुख्य आरोपित हेमचंद हैदराबाद से फरार हो गया। क्राइम ब्रांच ने नारकोटिक्स और हैदराबाद पुलिस की मदद से उसका स्केच तैयार किया है। आरोपित वेदप्रकाश व्यास ने हेमचंद से एमडीएमए खरीदना कबूला है। क्राइम ब्रांच एएसपी गुरुप्रसाद पाराशर के मुताबिक आरोपित दिनेश अग्रवाल, उसके बेटे अक्षय उर्फ चीकू अग्रवाल और वेदप्रकाश व्यास को कोर्ट पेश कर 15 जनवरी तक रिमांड पर लिया है। व्यास ने पूछताछ में बताया कि वह कैप्सूल कारखाना संचालित करता है। एमडीएमए तो उसने हैदराबाद के केमिस्ट हेमचंद से खरीदा था। लॉकडाउन में भी चार बार में बस और ट्रक के जरिए करीब 30 किलो एमडीएमए इंदौर भेज चुका है। पुलिस ने जब ट्रांसपोर्टर से जानकारी मांगी तो बताया ऑर्चई हेल्थ केयर के बॉक्स में एमडीएमए भेजता था। दिनेश और उसका बेटा चीकू ट्रांसपोर्ट से बॉक्स उठा लेता था।

पुलिस अब यह जानकारी जुटाने में जुटी है कि आखिर आरोपितों ने 30 किलो एमडीएमए कहां खपाई है। इस संबंध में मंदसौर, गरोठ, देवास, उज्जैन सहित इंदौर के विभिन्न क्षेत्रों में छानबीन कर रही है। आइजी हरिनारायणाचारी मिश्र के मुताबिक पुलिस ने आरोपितों के बैंक खातों, फ्लैट, प्लॉट और कारखानों की जानकारी जुटा ली है। जांच के लिए ईडी और आयकर विभाग को पत्र लिखा जा रहा है।

सदर बाजार के रईस ने खपाई करोड़ों की ड्रग

क्राइम ब्रांच और एसआइटी सदर बाजार के रईस व उसके पिता की भी तलाश कर रही है। रईस के माध्यम से ही 70 करोड़ रुपये कीमती 70 किलो ड्रग पकड़ी थी। रईस विजय नगर थाने से एनडीपीएस एक्ट के प्रकरण में फरार और इनाम भी घोषित है। आरोपित दिनेश व व्यास से एमडीएमए लेकर बेचता था।

Posted By: Sameer Deshpande

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस