इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि, Political Indore News। शहर कांग्रेस का पार्षद दल दो गुटों में बंट गया है। नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष रही फौजिया अलीम और उनके पति कांग्रेस नेता शेख अलीम के खिलाफ कांग्रेस पार्षद एकजुट हो गए है। अलीम पर कांग्रेस के नेताओं की जानकारी और गतिविधियां प्रशासन तक पहुंचाने के आरोप भी पार्षदों ने लगा दिया है।

अलीम के विरोध की सुगबुगाहट बीते दिनों कई कांग्रेस नेताओं को जिला प्रशासन द्वारा जारी हुए जिलाबदर व अन्य कार्रवाई के नोटिस के बाद हुई। इसके बाद चर्चा चली की प्रदेश में अल्पसंख्यक कांग्रेस के नए अध्यक्ष की नियुक्ति होना है। सूत्रों के अनुसार इसके बाद अल्पसंख्यक कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष इमरान प्रतापगढ़ी के पास कांग्रेस प्रवक्ता डा. अमीनुल खान सूरी ने शिकायत पहुंचा दी कि अलीम की प्रशासन के कुछ खास अधिकारियों से करीबी इंदौर के कांग्रेसियों पर भारी पड़ रही है। इस बीच अलीम के विरोध की कमान पूर्व पार्षद अनवर कादरी ने संभाल ली। कादरी की अगुवाई में एक बैठक और एक भोज भी हो गया। इसमें अलीम के खिलाफ रणनीति बनने की खबर है। इस बीच 18 में से 13 कांग्रेसी पार्षदों के कादरी वाले गुट में आने की खबर है। माना जा रहा है कांग्रेसी कैसे भी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ का अध्यक्ष बनने से अलीम को रोकना चाहते हैं।

बड़े नेताओं पर आरोप

इस बीच कुछ कांग्रेसी नेताओं ने यह सवाल भी उठा दिया है कि क्या हर पद इंदौर को ही मिलेगा। बीते दिनों महिला कांग्रेस अध्यक्ष भी इंदौर से बनाई गई थी। प्रदेश के अन्य क्षेत्रों और शहरों को भी प्रतिनिधित्व मिलना चाहिए। अलीम के विरोध की इस मुहिम के पीछे सज्जन वर्मा गुट द्वारा सहयोग करने की बात छन-छन कर बाहर आ रही है। निशाने पर जीतू पटवारी को बताया जा रहा है। अलीम पटवारी के नजदीकी है।

Posted By: gajendra.nagar

NaiDunia Local
NaiDunia Local