Indore News: आलोक ठक्कर, इंदौर (नईदुनिया)। मानसून की सक्रियता, खेती में किसानों की व्यस्तता और पड़ोसी राज्यों से आवक घटने से गाड़ी भाड़े में बढ़ोतरी... ये तीन प्रमुख कारण हैं जिससे सब्जियों के भाव दो से तीन गुना तक बढ़ गए हैं। आलू, प्याज और टमाटर ने सबसे ज्यादा रंग बदला है।

ऐसे कम हो सकते हैं दाम

सोयाबीन प्लांट पूरी क्षमता से चलें तो डीओसी (खली) बनेगी। सब्जी लाने वाले वाहनों को वापसी में लदान मिलने लगेगा। इससे भाड़ा कम होगा और सब्जियों के भाव में थोड़ी कमी होगी।

क्यों बढ़े आलू-प्याज के दाम

आलू का उत्पादन उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में औसत से 25 प्रतिशत कम रहा है। अप्रैल से जून की लॉकडाउन अवधि में सब्जियों की आपूर्ति नहीं होने से आलू की खपत अधिक हुई॥ इससे भी उपलब्धता कम हो गई है। कोल्ड स्टोर में भी माल की कमी अभी से बताई जा रही है।

इस स्थिति में सीजन की तुलना में अभी भाव ढाई गुना तक अधिक बताए जा रहे हैं। उधर, महाराष्ट्र देश में कुल प्याज उत्पादन के लिहाज से 50 प्रतिशत से अधिक की आपूर्ति करता है। लेकिन पिछले साल कमजोर मानसून की वजह से वहां उत्पादन कम रहा। अब बोवनी का समय आया तो मप्र से प्याज के बीज लेने पड़े। आलू की तरह प्याज की भी लॉकडाउन के दौरान काफी खपत हुई।

सब्जियों के भाव में आया उछाल

सब्जी वर्तमान भाव पहले के भाव

आलू 35 से 40 10 से 15

प्याज 30 से 40 8 से 10

टमाटर 50 से 60 10 से 20

लहसुन 80 से 125 40 से 50

पालक 50 से 60 10 से 20

गिलकी 60 से 70 20 से 25

शिमला मिर्च 50 से 60 20 से 25

करेला 40 से 50 20 से 25

कद्दू 30 से 40 10 से 15

लौकी 30 से 40 10 से 15

फूल गोभी 30 से 40 10 से 20

पत्ता गोभी 30 से 40 10 से 15

(स्रोतः खेरची के भाव प्रति किलो में)

आपूर्ति बढ़ने से पहले आलू-प्याज के भाव में बड़ी गिरावट आए, इसके आसार कम हैं। रबी में बुआई के क्षेत्रफल और उसके बाद आने वाली फसल पर भी भविष्य की तेजी-मंदी निर्भर करेगी।

-विनोद अग्रवाल आलू-प्याज कारोबारी

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020