इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि,Power Company Indore। तकनीकी उन्न्यन एवं पारदर्शिता का युग है, हम आज के दौर में पुराने तौर तरीकों से कार्य नहीं कर सकते। हमें समय से साथ आगे बढ़ाना है, तकनीक के सहारे कार्य करना है। मालवा और निमाड़ के सभी 111 निकायों में क्यूआर कोड से ही मीटर रीडिंग होना है। इस मामले में किसी भी स्तर की लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी।

मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध निदेशक अमित तोमर ने ये निर्देश दिए। वे कंपनी क्षेत्र के सभी 15 जिलों के बिजली अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इंदौर जिले में क्यूआर कोड से मीटर रीडिंग की स्थिति अच्छी है। इसके अलावा अन्य 14 जिलों में तत्काल सुधार की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अगले दो माह में सभी 111 नगरीय क्षेत्रों की मीटर रीडिंग क्यूआर कोड से ही होना चाहिए। इससे रीडिंग, बिलिंग को लेकर गड़बड़ी रूकेगी, साथ ही उपभोक्ता संतुष्टि बढ़ोतरी होगी। प्रबंध निदेशकतोमर ने सभी बकायादारों से राजस्व संग्रहण के लिए दैनिक कार्ययोजना बनाकर अमल करने, रबी सीजन की तैयारी, ट्रांसफार्मर फेल रेट कम करने, नगरीय निकायों के बिल 10 तारीख को जारी करने, 33 केवी एवं 11 केवी की ट्रिपिंग में कमी लाने, 11 सितंबर को आयोजित लोक अदालत की प्रभावी तैयारी के निर्देश दिए। उन्होंने प्रस्तावित नए सब स्टेशनों को लेकर विभागीय तैयारी करने एवं जमीन मामले में राजस्व अधिकारियों से संपर्क साधकर प्रगति लाने के निर्देश भी दिए।

आनलाइन सेवाओं पर जोर

मुख्य महाप्रबंधक संतोष टैगोर ने कहा कि आन लाइन सेवाएं जैसे ऊर्जस, स्पेक एवं आइईपीईसी माड्यूल, सीएम हेल्पलाइन आदि पर दर्ज प्रकरणों के समाधान एवं समय पर आनलाइन सेवाओं के मामले में गंभीरता से कार्य करे। इन पोर्टलों पर बिजली संबंधी शिकायतों का लंबित होना हमारी छवि पर विपरीत असर डाल सकता है। उन्होंने मानव संसाधन कार्यों संबंधी प्रगति प्रतिवेदन भी प्रस्तुत किया। इस अवसर पर कार्यपालक निदेशक संजय मोहासे,गजरा मेहता, वरिष्ठ अभियंतागण कैलाश शिवा, पुनीत दुबे, एसएल करवाड़िया, एसआर बमनके, आरएस खत्री, रवि मिश्रा, कामेश श्रीवास्तव, डीएन शर्मा, अंतिम जैन, सुनील पाटोदी आदि ने विचार रखे।

Posted By: gajendra.nagar

NaiDunia Local
NaiDunia Local