Pravasi Bhartiya Sammelan: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जनवरी माह में होने वाले प्रवासी भारतीय सम्मेलन और ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट के लिए इंदौर में तैयारी शुरू हो चुकी है। दोनों आयोजनों की ब्रांडिंग अलग-अलग थीम पर की जाएगी। इसके लिए एयरपोर्ट से सुपर कारिडोर होते हुए आयोजन स्थल तक दोनों ओर बड़े-बड़े होर्डिंग लगाए जाएंगे। इसमें भारत के गौरवशाली वैभव के साथ ही केंद्र और प्रदेश सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं की ब्रांडिंग होगी। प्रदेश को प्राप्त टाइगर और चीता स्टेट की ब्रांडिंग भी की जाएगी।

इंदौर में होने वाले दोनों बड़े आयोजनों की तैयारी की समीक्षा के लिए ब्रिलियंट कंवेंशन सेंटर में बैठक हुई। बैठक में मध्य प्रदेश औद्योगिक विकास निगम के एमडी मनीष सिंह, कलेक्टर इलैया राजा टी और निगम आयुक्त प्रतिभा पाल मौजूद थे। बैठक में मंच, यातायात, ब्रांडिंग, अतिथि सत्कार जैसे प्रमुख विषयों पर चर्चा हुई। बैठक में मनीष सिंह ने कहा कि दोनों बड़े आयोजनों में एयरपोर्ट से लेकर आयोजन स्थल तक पूरे मार्ग में छोटे होर्डिंग नहीं लगाए जाएंगे। पूरे मार्ग में 60 बाय 60 और 40 बाय 80 के बड़े होर्डिंग लगाए जाएंगे। प्रवासी भारतीय सम्मेलन की ब्रांडिंग थीम और कार्यक्रम स्थल की व्यवस्था की अनुमति विदेश मंत्रालय से मिलेगी। इवेस्टर्स समिट का कार्यक्रम मुख्यमंत्री कार्यालय से फाइनल होगा। इसलिए दोनों आयोजनों की तैयारी को जल्द ही अंतिम रूप दिया जाए।

प्रमुख हस्तियों के होंगे कार्यक्रम

प्रवासी भारतीय सम्मेलन में तीनों दिन टाउन हाल कार्यक्रम भी होंगे। शाम को होने वाले आयोजनों में श्रीश्री रविशंकर के अलावा बाबा रामदेव जैसी हस्तियां शामिल हो सकती हैं। यह कार्यक्रम भोपाल से तय होगा। इन आयोजनों के लिए विशेष हाल तैयार किया जाएगा। इन कार्यक्रमों में अतिथि और उनके परिवार भी शामिल होंगे।

मंच की थीम पर जताई नाराजगी

ब्रांडिंग का काम संभाल रही दिल्ली की इवेंट कंपनी एक्सप्रो इवेंट्स एंड एक्सीबिट्स ने प्रवासी भारतीय सम्मेलन के लिए बनाए जाने वाले मंच की डिजाइन और थीम दिखाई। तीन थीम दिखाने के बाद भी कोई यूनिक मंच सज्जा नहीं होने से मनीष सिंह ने सभी को खारिज कर दिया। उन्होंने फिर से मंच की थीम बनाने के निर्देश दिए। सिंह ने कहा कि अपनी कंपनी के सबसे बेहतर एक्सपर्ट को इसमें लगाएं। थीम से कोई संदेश निकलना चाहिए।

इन योजनाओं की होगी ब्रांडिंग

होर्डिंग में केंद्र, प्रदेश सरकार की प्रमुख योजनाओं के साथ ही स्थानीय योजनाओं को प्रमुखता दी जाएगी। इसमें केंद्र की पीएम गति शक्ति मिशन, जनधन से जन सुरक्षा योजना के साथ ही प्रदेश की लाड़ली लक्ष्मी योजना और प्रदेश को मिले कृषि कर्मण अवार्ड की ब्रांडिंग होगी। वहीं, प्रदेश को मिले टाइगर और चीता स्टेट के दर्जे को भी होर्डिंग में जगह मिलेगी। स्थानीय स्तर की योजनाओं में स्मार्ट सिटी, स्वच्छता में नंबर वन जैसी प्रमुख थीम रहेगी।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close