इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस का दामन छोड़ भाजपा नेता बने पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्डू की कांग्रेस में वापसी हो सकती है। बीते दिन से जारी ये अटकलें बुधवार को एक कॉलेज के आयोजन के बाद सही होती दिख रही है। कॉलेज गुड्डू परिवार द्वारा संचालित किया जा रहा है। बुधवार को नवप्रवेशित छात्रों के स्वागत में बड़ा मंच सजाकर दिग्विजय सिंह समेत शहर के अन्य कांग्रेस नेताओं को मेहमान बनाया गया। मंच पर गुड्डू भी मौजूद रहे। कार्यक्रम में वीडियो फिल्म के जरिए दिग्विजय सिंह के परिवार से लेकर उनके मुख्यमंत्री काल की तारीफ में कसीदे पढ़े गए। दावा किया गया कि वह दिग्विज सिंह की नर्मदा परिक्रमा ही थी, जिससे कांग्रेस की प्रदेश की सत्ता में वापसी हो सकी।

बख्तावरराम नगर स्थित कॉलेज के समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर दिग्विजसिंह मौजूद थे। शायर राहत इंदौरी भी मंच पर थे। उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी के आने का ऐलान हुआ था, लेकिन वे नहीं पहुंचे। शहर कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष विनय बाकलीवाल से लेकर चिंटू चौकसे और शेख अलीम के लिए भी मंच पर कुर्सियां लगाई गईं। इस कॉलेज का संचालन गुड्डू की बेटी रीना सेठिया करती हैं। दिग्विजय सिंह ने मंच से छात्रों से कहा कि देश में चंद लोग मिलकर देशभक्ति की परिभाषा तय कर रहे हैं। गांधीजी के लिए वाट्सएप पर अनर्गल संदेश चला रहे हैं और जिसने उनकी हत्या की, उसे देशभक्त कह रहे हैं। यह हमारे लिए शर्म की बात है। सिंह ने मंच से कहा कि मैं सियासत की बात नहीं करूंगा, लेकिन उन्होंने देश की गिरती अर्थव्यवस्था के लिए सरकार के कुछ निर्णयों को जिम्मेदार ठहराया और दुआ भी मांग ली कि इस दीपावली लक्ष्मीजी देश पर कृपा करें।

दिग्विजय बोले- ये तो गुड्डू जाने

प्रेमचंद गुड्डू ने विधानसभा चुनाव से ऐन पहले कांग्रेस छोड़ अपने पुत्र अजीत बौरासी के साथ भाजपा का दामन थाम लिया था। बाद में गुड्डू ने बेटे को घट्टिया विधानसभा से भाजपा के ही टिकट पर चुनाव भी लड़ाया, हालांकि यहां पराजय मिली। सोशल मीडिया पर गुड्डू समर्थकों ने पहले तक कांग्रेस का विरोध भी किया और दिग्विजय सिंह समेत तमाम नेताओं की आलोचना भी। बीते सप्ताह समीकरण बदलते दिखे। सिंह जब इंदौर आए तो देर रात परिवार के साथ रेसीडेंसी में दिग्विजय सिंह से मिलने पहुंच गए। बमुश्किल आठ दिनों के भीतर गुड्डू परिवार के कॉलेज में बड़ा जलसा आयोजित हुआ और कांग्रेस नेता मेहमान बने। हालांकि कार्यक्रम में अजीत बौरासी नजर नहीं आए। इधर, दिग्विजय सिंह से कार्यक्रम में बाद पूछा गया कि क्या गुड्डू की कांग्रेस में वापसी हो रही है तो सिंह ने कहा कि ये तो गुड्डू जाने।

पता करो ये लड़का चाय तो नहीं बेचता

समारोह में शायर राहत इंदौरी का सम्मान हुआ। शायरी के साथ अपनी बात कहते हुए राहत इंदौरी ने दिग्विजय सिंह की ओर इशारा करते हुए कहा कि मैं इनकी पार्टी में नहीं हूं लेकिन इनका झंडा लेकर देशभर में फिरता रहता हूं। शायरी के बीच एक छात्र के बोलने पर राहत इंदौरी ने कहा कि ये छात्र तरक्की करेगा, क्योंकि वक्त बेवक्त बोलता है। हिंदुस्तान में ऐसे ही लोग तरक्की करते हैं। उन्होंने गुड्डू से कहा कि पता करो कि ये लड़का चाय-वाय तो नहीं बेचता।